महिला आरक्षण के लिए संसद और उत्तर भारत की मानसिकता अनुकूल नहीं लगती: पवार

लोकसभा (Lok Sabha) और सभी विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत सीटें आरक्षित करने की व्यवस्था करने वाले महिला आरक्षण विधेयक (Women's Reservation Bill) पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में पवार ने कहा कि वह संसद में इस मुद्दे पर तब से बोल रहे हैं जब वह लोकसभा में कांग्रेस के सदस्य थे.

महिला आरक्षण के लिए संसद और उत्तर भारत की मानसिकता अनुकूल नहीं लगती: पवार

शरद पवार बोले महिला आरक्षण के लिए संसद और उत्तर भारत की मानसिकता अनुकूल नहीं लगती. (फाइल फोटो)

पुणे:

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(NCP) के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने शनिवार को कहा कि उत्तर भारत और संसद की “मानसिकता” लोकसभा या विधानसभाओं में महिलाओं को आरक्षण (Reservation for women)देने के अनुकूल प्रतीत नहीं होती. पवार ने पुणे डॉक्टर संघ की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह बयान दिया। इस कार्यक्रम में पवार और उनकी बेटी तथा लोकसभा सदस्य सुप्रिया सुले का साक्षात्कार लिया गया.

लोकसभा और सभी विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत सीटें आरक्षित करने की व्यवस्था करने वाले महिला आरक्षण विधेयक पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में पवार ने कहा कि वह संसद में इस मुद्दे पर तब से बोल रहे हैं जब वह लोकसभा में कांग्रेस के सदस्य थे. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सभी दलों को इस विधेयक को पारित कराने का प्रयास करना चाहिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 ये भी पढ़ें :



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)