"अखिलेश यादव AC से बाहर निकलकर प्रचार करते तो....": उपचुनाव नतीजों पर ओमप्रकाश राजभर का तंज

ओमप्रकाश राजभर ने अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा कि आजमगढ़ विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए अखिलेश यादव 9 बार आए थे और उन्होंने 13 जनसभा की थी. वहीं आजमगढ़ लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के प्रचार के लिए वे एक बार भी नहीं आए. 

अग्निपथ स्कीम को वापस लेना चाहिए: राजभर

गाज़ीपुर:

Bypolls Results 2022: समाजवादी पार्टी के मुख्य सहयोगी दल सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने उत्तर प्रदेश में दो लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में मिली हार के लिए अखिलेश यादव को जिम्मेदार बताया है. साथ ही बीजेपी और बीएसपी पर भी निशाना साधा है. सोमवार को गाज़ीपुर के हंसराजपुर में एक कार्यक्रम के दौरान ओमप्रकाश राजभर ने पत्रकारों से बातचीत की. बातचीत के दौरान उन्होंने यूपी में हुई करारी हार के कारणों का उल्लेख किया. ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि हार का पहला कारण बीएसपी है. जिसने बीजेपी के इशारे पर ऐसा प्रत्याशी दिया. जिसने चुनाव में नुकसान पहुंचाया है. दूसरा उन्होंने अखिलेश यादव को ही दोषी बताया और कहा कि वे लखनऊ के एसी कमरे से नहीं निकले. अगर वे एसी से बाहर निकल कर प्रचार करते तो आज रिजल्ट कुछ और होता. इंजन नहीं चलेगा तो डिब्बा कैसे चलता.

ओमप्रकाश राजभर ने अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए आगे कहा कि आजमगढ़ विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए अखिलेश यादव 9 बार आए थे और उन्होंने 13 जनसभा की थी. वहीं आजमगढ़ लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के प्रचार के लिए वे एक बार भी नहीं आए. 

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र संकट : शिवसेना के बागी विधायकों को कोर्ट से राहत के बाद 'अविश्वास प्रस्ताव' पर बढ़ी सियासी सरगर्मी - 10 बातें

जबकि तीसरा मुख्य कारण उन्होंने सरकारी अधिकारियों को बताया और कहा कि इनके द्वारा वोटरों को गलत तरीके से प्रभावित किया गया. उन्होंने कहा कि प्रशासन ने वोट नहीं डालने दिया. समाजवादी के वोट को रोका गया. आजमगढ़ में वोटिंग से पहले समाजवादी पार्टी के कम से कम 4 दर्जन नेताओं को उठा दिया गया. 

वापस ले अग्रिपथ योजना

हार के बाद पहली बार संवाददाताओं से मुखतिब राजभर ने अग्निपथ स्कीम पर भी अपनी राय रखी और इस योजना को  बेकार बताया. उन्होंने कहा कि ये बेकार स्कीम है, इसे सरकार को वापस ले लेना चाहिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: राष्‍ट्रपति भवन में खामोश और सरकार के कब्‍जे में रहने वाला राष्‍ट्रपति नहीं होना चाहिए: यशवंत सिन्‍हा