"अभी भी हिमाचल को अपना घर समझें पीएम मोदी", कांग्रेस की जीत पर NDTV से बोले विक्रमादित्य सिंह

विक्रमादित्य के पिता वीरभद्र सिंह 6 बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे. 2021 में उनके निधन के बाद विक्रमादित्य को राजा बनाया गया. विक्रमादित्य सिंह की मां रानी प्रतिभा सिंह हिमाचल कांग्रेस की अध्यक्ष हैं. इस साल मंडी लोकसभा उपचुनाव में वीरभद्र की पत्नी और रानी प्रतिभा सिंह ने बीजेपी को हराया था.

विक्रमादित्य सिंह की मां रानी प्रतिभा सिंह हिमाचल कांग्रेस की अध्यक्ष हैं.

नई दिल्ली:

हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों (Himachal Pradesh Assembly Elections Result 2022) में कांग्रेस (Congress) ने प्रचंड बहुमत के साथ जीत दर्ज की है. प्रदेश की 68 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 40 सीटों पर जीत हासिल की. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने भी शिमला ग्रामीण सीट पर 13,860 वोटों से जीत हासिल की है. जीत के बाद विक्रमादित्य सिंह ने पीएम मोदी से हिमाचल में कांग्रेस सरकार के लिए सहयोग की अपील की है.

NDTV से बातचीत में विक्रमादित्य सिंह ने कहा, 'पीएम मोदी ने हिमाचल में चुनावी अभियान के दौरान मंडी में एक जनसभा की थी. वहां उन्होंने हिमाचल को अपना घर बताया था. मैं चाहूंगा की पीएम अभी भी हिमाचल को अपना उतना ही घर मानें. कांग्रेस शासित हिमाचल प्रदेश को उतना ही प्रेम, सम्मान और सहयोग दें, जितना कि बीजेपी शासित राज्यों को मिलता है.'

अटल बिहारी वाजपेयी की बात को किया याद
उन्होंने कहा, 'मैं ये बात इसलिए कह रहा हूं, क्योंकि जब मेरे पिता 2003 में प्रदेश के सीएम थे और उस समय अटल बिहारी वाजपेयी देश के पीएम थे. तब वाजपेयी जी रिज मैदान में आए थे और उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की सरकार हिमाचल में है, लेकिन वीरभद्र सिंह मेरे पर्सनल फ्रेंड हैं. मैं चाहूंगा कि इस तरह की सहृदयता पीएम मोदी भी दिखाएं.'    

इस जीत से कैडर को बढ़ेगा मनोबल
उन्होंने कहा, 'इस जीत के मायने बहुत बड़े हैं. क्योंकि इस जीत के मायने सिर्फ हिमाचल प्रदेश तक ही सीमित नहीं हैं. इस जीत के मायने 2024 के चुनाव में हमारी पार्टी के कैडर को पूरे देश में पुर्नजीवित करने के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है.' 

हर वादें पूरे करेगी कांग्रेस
उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद यात्रा पर जा रहे हैं. जिस वजह से हमें हिमाचल में अच्छे संकेत देखने को मिले हैं. इसमें कोई दो राय नहीं है. आने वाले समय में हिमाचल प्रदेश कांग्रेस पार्टी के लिए मुख्य स्रोत साबित होगा. हिमाचल में कांग्रेस पार्टी की सरकार चलेगी. चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने जो वादें किए थे, उन्हें हम एक के बाद एक पूरा करके. इस काम में हम केंद्र सरकार का भी सहयोग चाहेंगे. क्योंकि हम एक कंस्ट्रक्टिव संघीय सरकार में विश्वास रखते हैं.'

2021 में विक्रमादित्य सिंह बने राजा
विक्रमादित्य के पिता वीरभद्र सिंह 6 बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे. 2021 में उनके निधन के बाद विक्रमादित्य को राजा बनाया गया. विक्रमादित्य सिंह की मां रानी प्रतिभा सिंह हिमाचल कांग्रेस की अध्यक्ष हैं. इस साल मंडी लोकसभा उपचुनाव में वीरभद्र की पत्नी और रानी प्रतिभा सिंह ने बीजेपी को हराया था.

मां को सीएम बनते देखना चाहते हैं
शिमला (ग्रामीण) से मौजूदा कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने बीजेपी के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रवि कुमार मेहता को 13,860 मतों से हराकर अपनी सीट बरकरार रखी. इस सीट से छह उम्मीदवार मैदान में थे. यह पूछे जाने पर कि क्या वह अपनी मां और कांग्रेस की हिमाचल प्रदेश इकाई की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहेंगे, विक्रमादित्य ने कहा, ‘बेटे के रूप में, मैं अपनी मां को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहूंगा, लेकिन इस संबंध में फैसला विजेता उम्मीदवारों और आलाकमान द्वारा लिया जाएगा.'

ये भी पढ़ें:-

Election Results Updates :गुजरात की रिकॉर्ड जीत के बाद पीएम मोदी ने जनता जनार्दन का जताया आभार

Himachal Election Result: 'हर वादा जल्द से जल्द निभाएंगे'... हिमाचल चुनाव में जीत के बाद राहुल गांधी का ट्वीट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Featured Video Of The Day

गुड मॉर्निंग इंडिया: दिल्ली शराब नीति केस में सीबीआई ने की एक और गिरफ्तारी