ईडी ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को पूछताछ के लिए भेजा समन

चार्जशीट में लगे आरोपों के मुताबिक, फारूक अब्दुल्ला ने अध्यक्ष रहने के दौरान जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों और दूसरे लोगों के खेल के विकास के नाम पर मिले फंड को डायवर्ट कर उसका निजी फायदे के लिए इस्तेमाल किया गया.

ईडी ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को पूछताछ के लिए भेजा समन

नई दिल्ली:

प्रवर्तन निदेशालय ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को पूछताछ में शामिल होने के लिए समन भेजा है. ईडी ने उन्हें मनी लांड्रिंग के मामले में पूछताछ के लिए कल बुलाया है. ये जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन स्कैम से जुड़ा मनी लांड्रिंग का मामला है.

जेकेसीए को साल 2001 से 2012 के बीच बीसीसीआई ने जम्मू-कश्मीर में क्रिकेट के विकास के लिए 112 करोड़ रुपये दिए थे. उस समय फारूक अबदुल्ला ही जेकेसीए के चेयरमैन थे.

आरोप है कि बीसीसीआई द्वारा दिए गए पैसे में जेकेसीए के तत्कालीन पदाधिकारियों ने 46.3 करोड़ रुपये का घोटाला किया. ईडी (ED) ने 2022 में इस मामले में आरोप पत्र दायर किया था.

चार्जशीट में लगे आरोपों के मुताबिक, फारूक अब्दुल्ला ने अध्यक्ष रहने के दौरान जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों और दूसरे लोगों के खेल के विकास के नाम पर मिले फंड को डायवर्ट कर उसका निजी फायदे के लिए इस्तेमाल किया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस फंड को कई प्राइवेट बैंक अकाउंट और क़रीबियों को भेजा गया. बाद में फंड की आपस में बंदरबांट की गई. 2018 में इस मामले में सीबीआई की चार्जशीट को आधार बनाकर ईडी ने पीएमएलए (PMLA) की जांच शुरू की थी.