विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 24, 2021

दिल्ली: किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान एक्टिव कॉल्स पर भी नजर रखेगी पुलिस

किसानों की प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड को बाधित करने के लिए पाकिस्तान से 13 से 18 जनवरी तक 300 से अधिक ट्विटर हैंडल बनाए गए

Read Time: 3 mins
दिल्ली: किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान एक्टिव कॉल्स पर भी नजर रखेगी पुलिस
प्रतीकात्मक फोटो.
नई दिल्ली:

किसानों (Farmers) की प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) मंगलवार को गणतंत्र दिवस (Republic Day) समारोह संपन्न होने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू होगी. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने कहा है कि किसानों की प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड को बाधित करने के लिए पाकिस्तान (Pakistan) से 13 से 18 जनवरी तक 300 से अधिक ट्विटर हैंडल बनाए गए हैं. दिल्ली पुलिस के मुताबिक ट्रैक्टर रैली के दौरान पुलिस की चप्पे-चप्पे पर नजर रहेगी. इस रैली के दौरान एक्टिव कॉल्स पर भी पुलिस की नजर रहेगी.

स्टंट करने वालों को पुलिस ने करतब नहीं करने की सख्त हिदायत दी है. हरियाण और पंजाब से आने वाली गाड़ियों पर नजर रखी जाएगी. रैली में शामिल हेने वाले ट्रैक्टरों की स्पीड 15-18 किलोमीटर प्रति घंटे की रखनी होगी. 

किसानों की इस रैली के मद्देनजर पुलिस तीन कंट्रोल रूम बना रही है. रैली पर ड्रोन कैमरों के जरिए नजर रखी जाएगी. रैली के रूट पर  CCTV कैमरे लगाए जा रहे हैं. पुलिस ट्रैक्टर रैली की वीडियोग्राफी भी करेगी.  रैली में आगे पुलिस होगी और उसके पीछे किसान होंगे. चारों तरफ पहरा होगा.

दिल्ली में 26 जनवरी को किसानों के ट्रैक्टर रैली निकालने पर दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच सहमति बन गई है. सभी जगहों के रूट भी तय हो गए हैं. दिल्ली पुलिस का कहना है कि ट्रैक्टर रैली को पूरी सुरक्षा दी जाएगी क्योंकि पाकिस्तान के आतंकी गड़बड़ी फैलाने की फिराक में हैं.

दिल्ली की सीमाओं पर हज़ारों ट्रैक्टर ट्रॉलियों का काफिला पहुंच रहा है. रविवार को किसान नेताओं और दिल्ली पुलिस के बीच छठे दौर की मीटिंग हुई जिसके बाद किसानों ने कहा कि उन्हें सभी रूटों पर ट्रैक्टर रैली निकालने की इजाज़त मिल गई है.

किसानों ने शनिवार की रात में दिल्ली पुलिस को ट्रैक्टर रैली निकालने के लिए पत्र लिखकर इज़ाज़त मांगी थी. पुलिस और किसानों के बीच सहमति से जो ट्रैक्टर रैली के प्रस्तावित रुट हैं उनमें सिंघू बॉर्डर से नरेला और औचंदी बॉर्डर से वापस सिंघू बॉर्डर करीब 74 किलोमीटर का रूट होगा. टिकरी बॉर्डर से नांगलोई, नजफगढ़,असौड़ा होते हुए वापस टीकरी बॉर्डर करीब 82 किलोमीटर लम्बा रास्ता होगा. इसी तरह गाजीपुर बॉर्डर से अप्सरा बॉर्डर, लालकुआं और फिर ग़ाज़ीपुर बॉर्डर का 68 किलोमीटर का रास्ता होगा. चौथा रूट चिल्ला बॉर्डर से दादरी रोड और वापस चिल्ला बॉर्डर का करीब 10 किलोमीटर का होगा.

किसान दिल्ली में आएं, लेकिन गणतंत्र दिवस परेड में बाधा नहीं आने देंगे : दिल्ली पुलिस

पुलिस के मुताबिक किसानों से बात कर पुलिस ने अपनी तैयारियां कर ली हैं. किसानों की ट्रैक्टर रैली गणतंत्र दिवस की परेड के बाद होगी.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
रेणुकस्वामी हत्याकांड: सिर्फ पीट-पीटकर जान ही नहीं ली, सामान भी चुरा लिया
दिल्ली: किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान एक्टिव कॉल्स पर भी नजर रखेगी पुलिस
वही केमिस्ट्री, वही अंदाज : जब लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार मंच पर साथ दिखे PM मोदी और CM योगी
Next Article
वही केमिस्ट्री, वही अंदाज : जब लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार मंच पर साथ दिखे PM मोदी और CM योगी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;