विज्ञापन
Story ProgressBack

प्लेन में बम का ई-मेलः नौवीं में पढ़ने वाले 13 साल के बच्चे तक उत्तराखंड के पिथौरागढ़ कैसे पहुंची पुलिस?

धमकीभरा ईमेल मिलते ही सभी के होश उड़ गए लेकिन जब फ्लाइट की तलाशी ली गई तो कोई बम नहीं मिला. बाद में शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की गई.

प्लेन में बम का ई-मेलः नौवीं में पढ़ने वाले 13 साल के बच्चे तक उत्तराखंड के पिथौरागढ़ कैसे पहुंची पुलिस?
13 साल के बच्‍चे ने किया था फ्लाइट में बम होने का मेल
नई दिल्ली:

रविवार को एक 13 वर्षीय लड़के को बम की धमकी वाला मेल दिल्ली एयरपोर्ट पर भेजने के आरोप में हिरासत में लिया गया. बच्चे ने एयरपोर्ट को मेल भेज कर अफवाह फैलाई कि दुबई जाने वाली फ्लाइट में बम रखा गया है. पुलिस उपायुक्त (आईजीआई एयरपोर्ट) उषा रंगनानी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि लड़के ने कुछ दिन पहले एक अन्य किशोर से प्रभावित होकर सिर्फ़ मनोरंजन के लिए बम की धमकी वाला मेल भेजा था.

टोरंटो जाने वाली फ्लाइट को भी मिला धमकीभरा मेल

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक एयरपोर्ट डीसीपी ने इस महीने हुई एक अन्य घटना का ज़िक्र भी किया, जिससे लड़का प्रभावित हुआ. जिस घटना का जिक्र किया गया, उसमें दिल्ली से टोरंटो जाने वाली एयर कनाडा की फ्लाइट में बम होने की धमकी दी गई थी. तब भी पूछताछ में लड़के ने स्वीकार किया था कि उसने भी यह सिर्फ़ मनोरंजन के लिए किया था, ताकि यह जांचा जा सके कि उसे ट्रैक किया जा सकता है या नहीं.

बम की धमकी का मेल मिलते ही उड़ गए होश

धमकीभरा ईमेल मिलते ही सभी के होश उड़ गए लेकिन जब फ्लाइट की तलाशी ली गई तो कोई बम नहीं मिला. बाद में शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की गई. डीसीपी ने कहा, यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी दिशानिर्देशों, प्रोटोकॉल और एसओपी का पालन किया गया. रंगनानी ने कहा, "जांच के दौरान पता चला कि ईमेल भेजने के तुरंत बाद ई-मेल आईडी डिलीट कर दी गई थी. ईमेल का पता उत्तरांचल के पिथौरागढ़ में लगाया गया था."

फ्लाइट को धमकी वाला मेल मिलने की जांच में पता चला कि मेल भेज कर आईडी को डिलीट कर दिया गया था. वहीं ये भी मालूम हुआ कि मेल उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से किया गया था.

मेल भेजने वाले लड़के तक कैसे पहुंचीं पुलिस

इसके बाद वहां एक टीम भेजी गई और फर्जी ईमेल भेजने के आरोप में लड़के को पकड़ा गया. लड़के ने पुलिस टीम को बताया कि उसके माता-पिता ने उसे पढ़ाई के लिए एक मोबाइल दिया था जिसके माध्यम से उसने ईमेल भेजा और बाद में अपनी आईडी डिलीट कर दी. उसने डर के कारण अपने माता-पिता के साथ कोई जानकारी साझा नहीं की. ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि जब फ्लाइट में बम की धमकी मिली है, इन धमकियों के बाद ज्यादातर फ्लाइट को इमरजेंसी लैंडिंग तक करनी पड़ी.

पहले भी मिल चुके हैं फ्लाइट में बम होने के मेल

1 जून को आईजीआईए पर वाराणसी-दिल्ली फ्लाइट में बम की धमकी मिली थी. इससे पहले, एक फ्लाइट के टॉयलेट में एक धमकीभरा कागज मिलने से आईजीआई हवाई अड्डे पर अफरा-तफरी मच गई थी, जिसके कारण सभी 176 यात्रियों को इमरजेंसी गेट से निकाला गया था. 16 मई को, आईजीआई हवाई अड्डे पर दिल्ली से वडोदरा जाने वाली एयर इंडिया की फ्लाइट के टॉयलेट में "बम" लिखा हुआ टिशू पेपर मिला था. जिसके बाद सभी यात्रियों को फ्लाइट से उतारा गया. हालांकि जांच के बाद कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
नेपाल के त्रिभुवन एयरपोर्ट पर प्लेन क्रैश का VIDEO आया सामने, 18 लोगों की हुई मौत
प्लेन में बम का ई-मेलः नौवीं में पढ़ने वाले 13 साल के बच्चे तक उत्तराखंड के पिथौरागढ़ कैसे पहुंची पुलिस?
कंबोडिया में साइबर अपराध में फंसे 14 भारतीयों को मुक्त कराया गया
Next Article
कंबोडिया में साइबर अपराध में फंसे 14 भारतीयों को मुक्त कराया गया
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;