मानवाधिकार और महिला आयोग से नोटिस पाने वालों में सबसे आगे है उत्तर प्रदेश : अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने दावा किया कि फर्जी मुठभेड़, हिरासत में मौत, राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) और राष्‍ट्रीय महिला आयोग से नोटिस पाने में उत्‍तर प्रदेश सबसे आगे है.

मानवाधिकार और महिला आयोग से नोटिस पाने वालों में सबसे आगे है उत्तर प्रदेश : अखिलेश यादव

अखिलेश का योगी सरकार पर हमला

झांसी/ कानपुर:

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राज्य में महिला उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं और कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर बृहस्पतिवार को सत्तारूढ़ भाजपा पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने दावा किया कि फर्जी मुठभेड़, हिरासत में मौत, राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) और राष्‍ट्रीय महिला आयोग से नोटिस पाने में उत्‍तर प्रदेश सबसे आगे है. ललितपुर बलात्कार पीड़िता के परिजनों से मिलने के एक दिन बाद झांसी में पत्रकारों से बातचीत में सपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘आज प्रदेश की कानून-व्यवस्था पूरे देश में सबसे खराब स्थिति में है. यहां तक कि महिला आयोग से सर्वाधिक नोटिस उत्तर प्रदेश सरकार को मिल रहा है.''

झांसी से वापसी पर कानपुर में पत्रकारों से बातचीत में यादव ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार खासतौर पर मुसलमानों को परेशान करने का काम कर रही है. उन्होंने कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था बदहाल है, पुलिस थाना अराजकता का केंद्र बन गया है और आए दिन पुलिसकर्मी अपराध में लिप्त मिलते हैं. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने कहा कि वह बुधवार को ललितपुर में पीड़ित किशोरी की मां से मिले और न्याय का भरोसा दिलाया. उन्होंने रोष व्यक्त करते हुए कहा, ‘‘ललितपुर की घटना शर्मिंदगी की पराकाष्ठा है, जिस पुलिस को रक्षक होना चाहिए वही भक्षक बन गई है.''

आरोपी की गिरफ्तारी का श्रेय सपा और खुद को देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादियों के पहुंचने के कारण आरोपी पकड़े गए हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पीड़िता के परिजनों को 50 लाख रुपये का मुआवजा देने की भी मांग की. ललितपुर जिले के पाली थाने में सामूहिक बलात्कार पीड़ित 13 साल की बच्ची के साथ थाना प्रभारी द्वारा बलात्कार किए जाने की घटना पर फिर से सरकार को घेरते हुए यादव ने आरोप लगाया, ‘‘पुलिस निरंकुश हो गई है. हो भी क्यों नहीं, जब पुलिस का उपयोग अपने निजी स्वार्थों एवं चुनाव में जबरिया अपने पक्ष में विजय दिलाने के लिए करेंगे, तो पुलिस को मनमानी करने से कैसे रोक पाएंगे. इसी का दुष्परिणाम है कि आज पुलिस निरंकुश हो गई है. ललितपुर में थाने के अंदर दुष्कर्म जैसी वारदात को अंजाम देने लगी है.''

उन्होंने सवाल पूछा, ‘‘अब इस थाने पर बुलडोजर कब चलेगा.''सपा अध्यक्ष ने कहा कि कानून व्यवस्था के साथ-साथ अर्थव्यवस्था पूरी तरह चौपट करने के बाद भाजपा वाले लाउडस्पीकर पर बोल रहे हैं, यह किस को धोखा दे रहे हैं, जनता से मस्जिदों के लाउडस्पीकर हटाने के नाम पर वोट मांगे थे अब मंदिरों के भी लाउडस्पीकर हटाकर वाहवाही लूट रहे हैं. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि भाजपा ने यह ‘सेकुलर फैब्रिक' कब से पहन लिया है. साथ ही यादव ने जवाब देते हुए कहा, ‘‘सिर्फ इसलिए कि जनता महंगाई, बेरोजगारी, बुंदेलखंड में डिफेंस कॉरिडोर की बात न पूछे.''

यादव ने सवाल उठाया कि यह सरकार बात-बात पर ‘टर्मिनेट' करने की बात करती थी लेकिन इस घटना के आरोपियों की बर्खास्तगी कब होगी. गौरतलब है कि पीड़ित लड़की की मां का आरोप है कि 22 अप्रैल को चार लोग उसकी बेटी को भोपाल ले गए थे जहां उन्होंने तीन दिनों तक उसके साथ बलात्कार किया और बाद में उसे पाली थाने के बाहर छोड़कर भाग गए. पीड़िता की मां के मुताबिक, उस दिन पाली के थानाध्यक्ष तिलकधारी सरोज ने लड़की को उसकी मौसी को सौंप दिया लेकिन 27 अप्रैल बयान दर्ज करने के बहाने किशोरी को थाने बुलाया और उसके साथ बलात्कार किया. पुलिस ने थानाध्यक्ष सहित मामले के छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

ये भी पढ़ें: हिंदू राष्ट्र” का प्रस्ताव : कार्यक्रम के खिलाफ नयी याचिका पर न्यायालय नौ मई को सुनवाई करेगा

सपा प्रमुख ने तंज किया कि भाजपा 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने की बात कह रही थी लेकिन किसानों को कितना लाभ हो रहा है, सब जानते हैं. उन्होंने कहा कि आज अधिकांश गेहूं निजी कंपनियों ने खरीद लिया है और अब जनता महंगा आटा खरीदने के लिए लिए तैयार हो जाए. उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए यादव ने कहा कि एक ओर वह बुंदेलखंड में डिफेंस कॉरिडोर बनाकर राफेल जैसे लड़ाकू विमान आदि बनाने की बात कर रहे हैं लेकिन उन्हें पता ही नहीं कि केंद्र की सरकार विदेश में जाकर फ्रांस और अमेरिका से विमान व हथियार खरीदने की चर्चा कर रही है. उन्होंने सवाल किया, ‘‘प्रदेश के मुख्यमंत्री बताएं कि पांच लाख करोड़ के एएमयू का क्या हुआ? लड़ाकू विमान या तोप कहां बन रही है?''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: सिटी सेंटर: कोरोना से मौतों पर WHO ने जारी किए आंकड़े, भारत सरकार ने जताया ऐतराज



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)