Analysis: हिमाचल की कांग्रेस सरकार पर संकट? राज्यसभा सीट तो गई, सुक्खू की कुर्सी पर भी खतरा!

अगर कांग्रेस पार्टी ने राज्यसभा चुनावों में क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायकों पर कोई एक्शन लिया या उन्हें निष्कासित किया, तो विधानसभा में उसके ही नंबर कम होंगे. इसका सीधा फायदा बीजेपी को मिलेगा.

Analysis: हिमाचल की कांग्रेस सरकार पर संकट? राज्यसभा सीट तो गई, सुक्खू की कुर्सी पर भी खतरा!

क्रॉस वोटिंग के बाद सुक्खू सरकार पर खतरा मंडरा रहा है.

शिमला:

राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha Elections 2024) के बाद हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh Government) में सियासी हलचल बढ़ गई है. मंगलवार (27 फरवरी) को एक राज्यसभा सीट के लिए वोटिंग हुई. इस दौरान सत्ताधारी कांग्रेस के 6 विधायकों ने पार्टी लाइन से हटकर बीजेपी उम्मीदवार हर्ष महाजन के लिए क्रॉस वोटिंग की. 3 निर्दलीय विधायक पहले कांग्रेस को सपोर्ट देने की बात कर रहे थे, लेकिन वोटिंग के दौरान उन्होंने बीजेपी का साथ दिया. ऐसे में कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी हार गए. बीजेपी के हर्ष महाजन जीत गए. क्रॉस वोटिंग के बाद भी दोनों को 34-34 वोट मिले थे. जिसके बाद टॉस से विजेता का फैसला हुआ. इस जीत के साथ ही हिमाचल की सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार के गिरने का खतरा मंडरा रहा है. अब सबकी नज़र हिमाचल सरकार के बजट सत्र पर है.

दरअसल, हिमाचल प्रदेश के विधानसभा में अभी बजट सत्र चल रहा है. इस दौरान अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सकता. अगर बहुमत से बजट पास हो गया, तो सुक्खू सरकार बच जाएगी. लेकिन अगर किन्हीं कारणों से बजट पास नहीं हो पाया, तो सरकार वैसे ही गिर जाएगी. 

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में कुल 68 सीटें हैं. साल 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 40, बीजेपी को 25 सीटों पर जीत मिली थी. 3 निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी चुनाव जीता था. ये निर्दलीय उम्मीदवार कांग्रेस को समर्थन कर रहे थे. लेकिन अब इनसे भी संपर्क नहीं हो पा रहा है. बहुमत का आंकड़ा 35 है. ऐसे में अगर कांग्रेस के 6 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए, तो सुक्खू सरकार अल्पमत में आ जाएगी.

गवर्नर से मिलेंगे बीजेपी नेता
हिमाचल प्रदेश में सुक्खू सरकार पर मंडरा रहे खतरे के बीच बीजेपी भी एक्टिव हो गई है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राजीव बिंदल ने राज्यसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद कहा कि ये सरकार बहुमत खो चुकी है. सीएम सुखविंदर सुक्खू को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए. बीजेपी नेता इस बारे में बुधवार को गवर्नर से मुलाकात करेंगे. नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर और बीजेपी विधायक दल को हिमाचल के राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ला ने मुलाकात के लिए बुधवार सुबह 7:30 बजे का वक्त दिया है.

नाराज कांग्रेस विधायकों को भी तोड़ने में जुटी बीजेपी
बीजेपी उन कांग्रेस विधायकों को भी टारगेट पर रखे हुए हैं, जो लंबे वक्त से अपनी ही सरकार से नाराज चल रहे हैं. यहां पार्टी के कुछ विधायक टूटे तो फिर कांग्रेस की सरकार भी गिर सकती है. यही वजह है कि विधायकों के बगावत से कांग्रेस के पास सरकार बचाने की चुनौती सामने होगी.

राज्यसभा चुनाव : 'क्रॉस वोट गेम' क्या 'INDIA' के लिए सबक? लोकसभा चुनाव में कैसे पड़ेगा असर?

सरकार बचाने के लिए कांग्रेस के पास हैं 2 रास्ते
अब सरकार बचाने के लिए कांग्रेस के पास दो रास्ते हैं. पहला- अपने विधायकों को लामबंद करके कांग्रेस बजट पास कराए. दूसरा- राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायकों पर पार्टी कोई एक्शन न ले. क्योंकि अगर पार्टी ने इन विधायकों पर कोई एक्शन लिया या उन्हें निष्कासित किया, तो विधानसभा में उसके ही नंबर कम होंगे. इसका सीधा फायदा बीजेपी को मिलेगा.

किन-किन विधायकों ने की क्रॉस वोटिंग
हिमाचल में बीजेपी के पक्ष में क्रॉस वोटिंग करने वाले कांग्रेसी विधायकों में राजेंद्र राणा, सुधीर शर्मा, देवेंद्र भुट्‌टो, आईडी लखनपाल, रवि ठाकुर और चैतन्य शर्मा का नाम आ रहा है. ये सभी वोटिंग से पहले सुबह एक ही गाड़ी में विधानसभा पहुंचे. वोटिंग के बाद ये शिमला से निकल गए और अब किसी के संपर्क में नहीं हैं.

इनके अलावा सरकार को समर्थन दे रहे तीन निर्दलीय विधायकों आशीष शर्मा, होशियार सिंह और केएल ठाकुर के भी बीजेपी के पक्ष में वोट देने की बात कही जा रही है. इन सभी 9 विधायकों को CRPF की सिक्योरिटी दी जा रही है.

राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद 6 विधायकों को हरियाणा ले गए पुलिस : हिमाचल CM सुक्खू का दावा

सिंघवी बोले- क्रॉस वोटिंग करने वालों ने हमारे साथ खाना खाया
राज्यसभा चुनाव हार चुके कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने कांग्रेस हाईकमान, मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू और प्रदेश कांग्रेस का आभार जताया. उन्होंने क्रॉस वोटिंग करने वाले 6 पार्टी के विधायकों समेत 3 निर्दलीय का भी आभार जताते हुए कहा, "उन्होंने सोमवार रात हमारे साथ डिनर किया. उनमे से 3 ने सुबह हमारे साथ ब्रेक फॉस्ट भी किया. उन्होंने हमें शिक्षा दी है."

CM सुक्खू बोले- हमारे पास पूरा बहुमत
हिमाचल प्रदेश के CM सुखविंदर सुक्खू ने कहा कि जिस तरह अभी काउंटिग शुरू हुई और नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर काउंटिंग ऑफिसर को धमका रहे हैं, ये लोकतंत्र के लिए अच्छा संकेत नहीं है. बीजेपी के हिमाचल नेताओं को मुख्यमंत्री ने सब्र रखने की नसीहत दी.

सुक्खू ने कहा कि CRPF और हरियाणा पुलिस हिमाचल के विधायकों को लेकर गई हैं. उनके परिवार के लोग संपर्क कर रहे है. उन्होंने बीजेपी पर गुंडागर्दी करने के आरोप लगाए. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस के पास पूरा बहुमत है. जिस तरह का गंदा खेल बीजेपी खेल रही है, हिमाचल की संस्कृति इस चीज को पसंद नहीं करती.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हिमाचल में 6 कांग्रेस MLAs ने दिलाई BJP को जीत, हर्ष महाजन राज्यसभा चुनाव जीते