वसुंधरा राजे ने धार्मिक सुर और सियासी संदेश के साथ 2 दिन की यात्रा का किया आगाज

BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा पिछले हफ्ते जयपुर गए थे और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के बीच मतभेदों को दूर करने की कोशिश की थी लेकिन पार्टी नेताओं का कहना है कि दोनों गुटों में अभी तक कोई सहमति अभी तक नहीं पाई है.

वसुंधरा राजे ने धार्मिक सुर और सियासी संदेश के साथ 2 दिन की यात्रा का किया आगाज

वसुंधरा राजे लंबे समय से राजनीतिक तौर पर सक्रिय न होने के आरोपों का भी जवाब दिया.

जयपुर:

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje)ने सोमवार को अपने 68वें जन्मदिन के पहले अपना रुख एकदम स्पष्ट कर दिया है. पिछले कुछ सालों से राजस्थान के राजनीतिक परिदृश्य से दूर रहने को लेकर लग रही अटकलों को विराम देते हुए उन्होंने संकेत दिया है कि वह सक्रिय राजनीति में लौट रही हैं.


BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा पिछले हफ्ते जयपुर गए थे और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के बीच मतभेदों को दूर करने की कोशिश की थी लेकिन पार्टी नेताओं का कहना है कि दोनों गुटों में अभी तक कोई सहमति अभी तक नहीं पाई है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वसुंधरा राजे की राजस्थान के धार्मिक स्थलों की दो दिन की यह यात्रा ऐसे वक्त वक्त हो रही है, जब प्रदेश बीजेपी इकाई में उनके और प्रदेश अध्यक्ष पूनिया के प्रति वफादारी साबित करने के लिए होड़ लगी है. भरतपुर क्षेत्र में वसुंधरा राजे की यह यात्रा शक्ति प्रदर्शन के एक प्रयास के तौर पर माना जा रहा है कि वह अभी भी भारी भीड़ इकट्ठा कर सकती हैं.