यूपी में कोरोना के 2,967 नए मामले रिपोर्ट हुए, लखनऊ में फिर सबसे ज्यादा मरीज मिले

UP COVID-19 Cases: उत्तर प्रदेश में इस समय कोरोना के 14,073 सक्रिय मामले हैं. पिछले 24 घंटे में प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सर्वाधिक 940 मामले मिले. वाराणसी में 253, प्रयागराज में 213 और कानपुर में 152 नए मामले सामने आए हैं.

यूपी में कोरोना के 2,967 नए मामले रिपोर्ट हुए, लखनऊ में फिर सबसे ज्यादा मरीज मिले

UP Coronavirus Cases :यूपी में भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं

लखनऊ:

UP Coronavirus Cases: यूपी में भी कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है. शुक्रवार को पिछले 24 घंटे में 16 और मरीजों की मौत हो गई जबकि इस दौरान 2,967 नए केस सामने आए हैं.  यूपी सरकार के आंकड़ों के अनुसार, राज्य में अब मरने वालों का आंकड़ा 8,836 हो गया है. 2,967 नए मरीजों के बाद  कुल संक्रमितों की संख्या 6,22,736 तक पहुंच गई है. दिल्ली में भी करीब 4 हजार नए केस सामने आए हैं, हालांकि सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन की संभावना से फिलहाल इनकार किया है.

यूपी में 24 घंटे के दौरान 782 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है, कुल 5,99,827 कोरोना के मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं. उत्तर प्रदेश में इस समय कोरोना के 14,073 सक्रिय मामले हैं. पिछले 24 घंटे में प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सर्वाधिक 940 मामले मिले. वाराणसी में 253, प्रयागराज में 213 और कानपुर में 152 नए मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे में सर्वाधिक नौ संक्रमितों की मौत लखनऊ में हुई है.


यूपी में 1.47 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच की गई और अब तक कुल 3.50 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की जा चुकी है. गौरतलब है कि यूपी में दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक, पंजाब, छत्तीसगढ़ की ही तरह कोरोना के मामले बेहद तेजी से बढ़े हैं. होली के दौरान तमाम जगह पाबंदियों के बावजूद भीड़ के इकट्ठा होने के कारण प्रयागराज, बनारस और कानपुर जैसे शहरों में भी कोरोना के नए मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं. यूपी सरकार ने स्कूल-कॉलेज फिर से बंद कर दिए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली में भी करीब 4 हजार नए केस सामने आए हैं, हालांकि सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन की संभावना से फिलहाल इनकार किया है.महाराष्‍ट्र में कोविड-19  के बढ़ते मामलों को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे ने चिंता जताई है. उन्‍होंने कहा, 'मार्च माह से पिछले साल की तुलना में स्थिति और खराब हो गई है. ऐसे में लॉकडाउन की आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता. हम पहले कोरोना के मामलों में कमी लाने में सफल हुए थे.' सीएम ने शुक्रवार कोो  प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि पिछले साल मार्च में कोरोना वायरस ने महाराष्‍ट्र में एंट्री की थी और दानव की तरह राज्‍य पर हमला किया था. हमने इसके खिलाफ एक जुट होकर जंग छेड़ी थी और इसी कारण हम स्थिति को काफी हम तक नियंत्रण में करने में सफल रहे थे. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)