'विदेशों में भेजे ज्यादा वैक्सीन..', UN में स्पीच की क्लिप साझा कर यशवंत सिन्हा का PM मोदी पर हमला

यशवंत सिन्हा की आलोचना दिल्ली में 17 लोगों की गिरफ्तारी के बीच आई है, जो दिल्ली में केंद्र की वैक्सीन नीति की आलोचना करने वाले पोस्टरों से जुड़े हैं. पोस्टर कथित तौर पर सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के एक नेता द्वारा लगाए गए थे. इस बीच, दिल्ली ने वैक्सीन के सीमित स्टॉक की ओर इशारा करते हुए चार दिन पहले 18-44 साल के लोगों का टीकाकरण रोक दिया है. 

'विदेशों में भेजे ज्यादा वैक्सीन..', UN में स्पीच की क्लिप साझा कर यशवंत सिन्हा का PM मोदी पर हमला

पूर्व केंद्रीय मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा.

नई दिल्ली:

यशवंत सिन्हा” and “COVID-19 Vaccine: पूर्व केंद्रीय मंत्री और तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर विदेशों में वैक्सीन निर्यात करने पर निशाना साधा है. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में एक चर्चा में भारतीय प्रतिनिधि के भाषण का एक वीडियो क्लिप ट्विटर पर साझा किया है, जिसे सरकार की "वैक्सीन कूटनीति" के रूप में जाना जाता है. पिछले दिनों पीएम मोदी के खिलाफ पोस्टर चिपकाने और उनकी आलोचना करने पर दिल्ली पुलिस द्वारा 17 लोगों की गिरफ्तारी के बाद कई विपक्षी नेताओं ने इससे जुड़े कई अपमानजनक ट्वीट्स किए हैं, जो टीके की कमी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करता है. पीएम की आलोचना करने वालों में कांग्रेस के राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और तृणमूल कांग्रेस के मोहुआ मोइत्रा भी शामिल हैं.

यशवंत सिन्हा ने अपने ट्वीट में लिखा है, "10 सेकंड का एक वीडियो मोदी को एक्सपोज करता है. @UN में भारत के प्रतिनिधि ने संयुक्त राष्ट्र को सूचित किया कि भारत ने अपने लोगों को टीका लगाने की तुलना में विदेशों में अधिक टीके भेजे. मोदी अब वास्तव में एक विश्व नेता हैं भले भारतीय नरक में जाएं."

PM मोदी की आलोचना वाले पोस्टर को प्रियंका गांधी ने बनाया नया हथियार, राहुल ने भी दी चुनौती

यह वीडियो क्लिप मार्च में आयोजित UNGA की अनौपचारिक बैठक में "india at UN, NY" के ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट से ली गई है. भारत COVID-19 टीकों के लिए समान वैश्विक पहुंच पर राजनीतिक घोषणा के आरंभकर्ताओं में से एक पक्ष के रूप में इस बैठक में भाग ले रहा था.

वीडियो क्लिप में, भारतीय प्रतिनिधि नागराज नायडू, जो भारत के राजदूत और संयुक्त राष्ट्र में उप स्थायी प्रतिनिधि हैं, वैक्सीन के क्षेत्र में भारत के योगदान के बारे में बोलते हुए दिखाई दे रहे हैं. क्लिप में उन्हें यह कहते हुए देखा जा सकता है, "वैज्ञानिक समुदाय टीकों के साथ आने के बाद, "अब हम कोविड 19 टीकों की उपलब्धता, पहुंच, सामर्थ्य और वितरण सुनिश्चित करने के लिए सामना कर रहे हैं."

Coronavirus India Updates: देश में 36,18,458 उपचाराधीन मरीज, संक्रमण दर 16.98 प्रतिशत : सरकार

क्लिप में नायडू ने वैक्सीन की उपलब्धता में समानता की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो इससे गरीब देशों पर गहरा असर पड़ेगा." उन्होंने कहा, "भारत अगले छह महीनों में न केवल अपने स्वयं के 300 मिलियन फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं का टीकाकरण करेगा, बल्कि इस प्रक्रिया में 70 से अधिक देशों को भी टीकों की आपूर्ति की है. वास्तव में, आज की स्थिति में, हमने अपने लोगों को वैक्सीन देने की तुलना में विश्व स्तर पर अधिक टीकों की आपूर्ति की है."


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यशवंत सिन्हा की आलोचना दिल्ली में 17 लोगों की गिरफ्तारी के बीच आई है, जो दिल्ली में केंद्र की वैक्सीन नीति की आलोचना करने वाले पोस्टरों से जुड़े हैं. पोस्टर कथित तौर पर सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के एक नेता द्वारा लगाए गए थे. इस बीच, दिल्ली ने वैक्सीन के सीमित स्टॉक की ओर इशारा करते हुए चार दिन पहले 18-44 साल के लोगों का टीकाकरण रोक दिया है.