PM मोदी की आलोचना वाले पोस्टर को प्रियंका गांधी ने बनाया नया हथियार, राहुल ने भी दी चुनौती

दिल्ली पुलिस ने पिछले दिनों कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कथित तौर पर आलोचना करने वाले पोस्टर चिपकाने के मामले में 25 प्राथमिकी दर्ज की हैं और 25 लोगों को गिरफ्तार किया है.

PM मोदी की आलोचना वाले पोस्टर को प्रियंका गांधी ने बनाया नया हथियार, राहुल ने भी दी चुनौती

प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल पिक बदलकर PM मोदी पर निशाना साधा है.

नई दिल्ली:

कांग्रेस (congress) महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के खिलाफ जारी उस पोस्टर के समर्थन में जुट गई हैं, जिसके खिलाफ दिल्ली पुलिस ने 25 लोगों को गिरफ्तार किया है. रविवार (16 मई) को प्रियंका गांधी ने दोपहर में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर अपना प्रोफाइल पिक हटाकर उसकी जगह उसी पोस्टर को लगा दिया. पोस्टर में लिखा है, "मोदी जी हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दिया?"

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और प्रियंका गांधी के भाई राहुल गांधी ने भी पीएम मोदी के खिलाफ पोस्टर को ट्विटर पर शेयर किया है और खुद को गिरफ्तार करने की चुनौती दी है. उन्होंने पोस्टर के साथ लिखा है, "मुझे भी गिरफ्तार करो."

कांग्रेस सांसद राजीव सातव का निधन, कोविड से उबरने के बाद बिगड़ गई थी तबीयत

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कथित तौर पर आलोचना करने वाले पोस्टर चिपकाने के मामले में 25 प्राथमिकी दर्ज की हैं और 25 लोगों को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि ये पोस्टर शहर के कई हिस्सों में लगाए गए थे. इनमें लिखा था, "मोदी जी हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दी?"

पुलिस को पोस्टरों के बारे में सूचना मिली थी जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों को सतर्क किया गया. शिकायतों के आधार पर दिल्ली पुलिस ने लोक सेवक द्वारा जारी आदेश की अवज्ञा करने से संबंधित भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत विभिन्न जिलों में 25 प्राथमिकी दर्ज की हैं.


नर्स, हेल्थ वर्कर होंगे नोडल पर्सन: ग्रामीण और आदिवासी इलाकों के लिए नई गाइडलाइन जारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस ने बताया कि तीन प्राथमिकी उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दर्ज की गई और वहां से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. तीन प्राथमिकी पश्चिम दिल्ली में दर्ज की गयीं और वहां से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि तीन प्राथमिकी बाहरी दिल्ली में दर्ज की गईं और वहां से तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है. राजधानी के उत्तर-पश्चिम इलाके में इस मामले में चार प्राथमिकी दर्ज की गयीं और दो लोगों को गिरफ्तार किया गया. (भाषा इनपुट्स के साथ)