देश में Black Fungus के कुल मामले 11,717 हुए, जानें किस राज्य में कितने मरीज

Black Fungus Cases in India: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा ब्लैक फंगस के मामलों की जानकारी साझा की गई है, जिसके अनुसार 25 मई रात 9.30 बजे तक देश में ब्लैक फंगस के कुल मामले 11 हजार 717 हो चुके हैं.

देश में Black Fungus के कुल मामले 11,717 हुए, जानें किस राज्य में कितने मरीज

गुजरात में Black Fungus के सबसे ज्यादा मामले (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

Black Fungus Cases in India: जहां एक तरफ कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ ब्लैक फंगस यानी कि म्यूकोरमाइकोसिस का प्रकोप तेजी से अपने पांव पसार रहा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा ब्लैक फंगस के मामलों की जानकारी साझा की गई है, जिसके अनुसार 25 मई रात 9.30 बजे तक देश में ब्लैक फंगस के कुल मामले 11 हजार 717 हो चुके हैं. जिनमें सबसे अधिक मामले गुजरात 2859 और महाराष्ट्र के 2770 हैं. इसके अलावा आंध्र प्रदेश में इस फंगस के 768, मध्य प्रदेश में 752 और तेलंगाना में 744 मामले हैं. वहीं उत्तर प्रदेश में ब्लैक फंगस के 701 और राजस्थान में 492 मरीज हैं. 

Read Also: दिल्ली में ब्लैक फंगस के मामले 620 हुए, CM केजरीवाल ने दिया इंजेक्शन की कमी का हवाला

hi9piv7g

देश में ब्लैक फंगस के मरीजों का राज्यवार ब्योरा

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी सूची के अनुसार कर्नाटक में 481 और हरियाणा में 436 मरीजों का इलाज चल रहा है. इसके अलावा तमिलनाडु में 236, बिहार में 215, पंजाब में 141, उत्तराखंड में 124, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 119 और छत्तीसगढ़ में 103 मरीज हैं. जबकि चंडीगढ़ में 83 और गोवा में 10 मरीज हैं. इसके अलावा कई राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे भी हैं, जहां इसका एक भी मामला नहीं है, जैसे कि अंडमान द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश, असम, लद्दाख, लक्षद्वीप, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और सिक्कम. वहीं पश्चिम बंगाल और दमन द्वीव में इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई. 


Read Also:  ब्लैक और व्हाइट के बाद अब येलो फंगस का खतरा, गाजियाबाद में मिला पहला मरीज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बाकी के राज्यों में ब्लैक फंसग के मरीजों की संख्या दहाई के आंकड़े के नीचे चल रही है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 19 राज्य पहले ही म्यूकोरमाइकोसिस को महामारी अधिनियम के तहत अधिसूचित बीमारी घोषित कर चुके हैं. इसके तहत ऐसे मामलों की जानकारी सरकारी अधिकारियों को देनी होती है. ब्लैक फंसग से पीड़ित पाए जा रहे हैं ज्यादातर पीड़ित, कोरोना संक्रमण या फिर शुगर के मरीज हैं.