दिल्ली में ब्लैक फंगस के मामले 620 हुए, CM केजरीवाल ने दिया इंजेक्शन की कमी का हवाला

Delhi Black Fungus Cases: दिल्ली में कोरोना की धीमी रफ्तार के बीच ब्लैक फंगस के मामलों में तेजी देखने को मिल रही है. प्राप्त जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में ब्लैक फंगस के कुल मामले 620 हो चुके हैं.

दिल्ली में ब्लैक फंगस के मामले 620 हुए, CM केजरीवाल ने दिया इंजेक्शन की कमी का हवाला

Black Fungus Cases in Delhi: 3500 इंजेक्शन की जरूरत है लेकिन सिर्फ 400 ही उपलब्ध -केजरीवाल

नई दिल्ली:

Delhi Black Fungus Cases: दिल्ली में कोरोना की धीमी रफ्तार के बीच ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मामलों में तेजी देखने को मिल रही है. प्राप्त जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में ब्लैक फंगस के कुल मामले 620 हो चुके हैं. सोमवार तक 500 मामलों की जानकारी थी. ब्लैक फंगस के मामलों की बढ़ोतरी के साथ इसकी दवा की कमी भी एक बड़ी चुनौती बनकर सामने आई है. अब इसको लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच टकराव की स्थिति बन गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का मानना है कि केंद्र द्वारा इसकी दवा नहीं देने के कारण यह समस्या बढ़ रही है. उन्होंने कहा कि दिल्ली को रोजाना ब्लैक फंगस के 3500 इंजेक्शन की जरूरत है लेकिन केंद्र सिर्फ 400 इंजेक्शन ही उपलब्ध करवा रहा है. 

Read Also: दिल्ली के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल में अब 'ब्लैक फंगस' के मरीजों की भीड़!

दिल्ली के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल दिल्ली के लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में इन दिनों कोरोना से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज भर्ती हो रहे हैं. 2000 बेड्स की क्षमता वाले लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में इन दिनों करीब 30 मरीज रोजाना भर्ती हो रहे हैं. एनडीटीवी से खास बातचीत में अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. सुरेश कुमार ने बताया, ''ब्लैक फंगस के मामले बहुत तेजी से सामने आ रहे हैं. 3 से 4 दिन पहले हमारे अस्पताल में 13 ब्लैक फंगस के मरीज एडमिट थे, जबकि आज यह बढ़कर 64 हो चुके हैं. इतने मरीज तो कोरोना के एडमिट नहीं हो रहे जितने ब्लैक फंगस के एडमिट हो रहे हैं''


Read Also:  ब्लैक और व्हाइट के बाद अब येलो फंगस का खतरा, गाजियाबाद में मिला पहला मरीज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी देखने को मिला है कि नमी वाले इलाके में रहने वाले लोग इससे ज्यादा ग्रसित हो रहे हैं. जिन लोगों के घरों में सूरज की रोशनी नहीं आती और उन्होंने कोविड का इलाज होम आइसोलेशन में रहकर किया है, साथ ही गीले कपड़े और गंदे मास्क का इस्तेमाल किया है.. ऐसे में लोगों ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ जाता है. इसमें सावधानी बरतने की जरूरत होती है मास्क को लगातार 3-4 दिन तक इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.