''भारत माता की जय'' के नारों के बीच स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह का पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

राजस्थान के स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह (Squadron Leader Kuldeep Singh) की उनके पैतृक गांव घरड़ाना खुर्द में पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ ''भारत माता की जय'' और ''कुलदीप अमर रहे'' के नारों के बीच अंत्येष्टि कर दी गयी.

''भारत माता की जय'' के नारों के बीच स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह का पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

पूरे सैनिक सम्मान से स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह को अंतिम विदाई दी गई.

जयपुर:

तमिलनाडु (Tamil Nadu) के कुन्नूर में सीडीएस (CDS) बिपिन रावत सहित 13 लोगों की हेलीकॉप्टर हादसे में मौत हो गई थी. इसी में राजस्थान के स्क्वॉड्रन लीडर कुलदीप सिंह (Squadron Leader Kuldeep Singh) भी शामिल हैं. स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह का शनिवार को राजस्थान में उनके पैतृक गांव घरड़ाना खुर्द में पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान लोगों ने ''भारत माता की जय'' और ''कुलदीप अमर रहे'' के नारे गूंजते रहे. लोगों ने नम आंखों से सिंह को अंतिम विदाई दी. वहीं ओडिशा के जूनियर वारंट अफसर (जेडब्ल्यूओ) राणा प्रताप दास का भी पार्थिव शरीर शनिवार सुबह भुवनेश्वर हवाईअड्डे पर पहुंचा जहां मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और अन्य गणमान्य लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. 

हरिद्वार : गंगा में विसर्जित की गईं सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी की अस्थियां

बता दें, इससे पहले कुलदीप सिंह का पार्थिव शरीर शनिवार सुबह दिल्ली से विशेष विमान से झुंझुनू हवाई अड्डे पर लाया गया. झुंझुनू हवाई अड्डे पहुंचने पर उनकी पार्थिव देह पर  जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों ने  श्रद्धांजलि अर्पित की.  उनकी पार्थिव देह को भारतीय वायुसेना के फूलों से सजे एक ट्रक में पैतृक गांव घरडाना खुर्द ले जाया गया.

वहां शनिवार शाम हजारों की संख्या में मौजूदा ग्रामीणों ने नम आंखों से कुलदीप को पूरे सैनिक सम्मान से अंतिम विदाई दी. इस समय बार बार ''वंदे मातरम'', ''भारत माता की जय'' और ''कुलदीप अमर रहे'' की नारे गूंजते रहे. इस अवसर पर राज्य सरकार की ओर से सैनिक कल्याण मंत्री राजेंद्र गुढा, सांसद नरेंद्र कुमार, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि और हजारों की संख्या में लोग मौजूद थे.

हेलिकॉप्टर क्रैश : IAF के 4, आर्मी के 2 जवानों के शवों की पहचान, सैन्य सम्मान के साथ दी जाएगी अंतिम विदाई

दूसरी तरफ, ओडिशा के अंगुल जिले के तालचेर के रहने वाले दास को भुवनेश्वर हवाईअड्डे पर 120 इंफ्रेंट्री बटालियन के जवानों द्वारा गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया. यहां से उनके पार्थिव शरीर को तालचर के कुंडाला पंचायत क्षेत्र के उनके पैतृक गांव कृष्णचंद्रपुर ले जाया गया.

महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड गांव में पूर्ण सैन्य व राजकीय सम्मान से होने वाले अंतिम संस्कार के लिये तैयारियां कर रही है. जेड्ब्ल्यूओ दास के पैतृक गांव के लोगों की मांग है कि तालाबेडा और कृष्णचंद्रपुर के बीच सड़क का नाम सैन्य अधिकारी के नाम पर रखा जाए. जेडब्ल्यूओ दास (34) जून 2006 में वायुसेना में भर्ती हुए थे और फिलहाल कोयंबटूर में तैनात थे. उनका विवाह 2017 में दंत चिकित्सक डॉ. शिवांगी से हुआ था और उनका 19 महीने का एक बेटा भी है.


उल्लेखनीय है कि बुधवार को इस हादसे में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और सशस्त्र बलों के 11 कर्मियों की मौत हो गई थी. दुर्घटना में जान गंवाने वाले सैन्य कर्मियों में राजस्थान के स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह और जेडब्ल्यूओ राणा प्रताप दास भी शामिल थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हेलीकॉप्टर हादसे में जान गंवाने वाले 6 और पार्थिव शरीरों की पहचान, DNA टेस्ट से की गई पहचान