सचिन पायलट ने 35 करोड़ के ऑफर का आरोप लगाने वाले कांग्रेस विधायक को लीगल नोटिस भेजा

राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने 35 करोड़ रुपये के ऑफर का आरोप लगाने वाले कांग्रेस विधायक गिरिराज मलिंगा (Giriraj Malinga) को लीगल नोटिस भेजा है.

सचिन पायलट ने 35 करोड़ के ऑफर का आरोप लगाने वाले कांग्रेस विधायक को लीगल नोटिस भेजा

Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट ने गिरिराज मलिंगा को भेजा लीगल नोटिस.

नई दिल्ली:

राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने 35 करोड़ रुपये के ऑफर का आरोप लगाने वाले कांग्रेस विधायक गिरिराज मलिंगा (Giriraj Malinga) को लीगल नोटिस भेजा है. बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए विधायक गिरिराज मलिंगा ने सचिन पायलट पर आरोप लगाया था कि उन्हें BJP में शामिल होने के लिए 35 करोड़ की रिश्वत देने की कोशिश की थी. पायलट ने सोमवार को कहा था कि वह 'विधायक के खिलाफ उचित और सख्त कानूनी कार्रवाई करेंगे.'

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा था कि ऐसे आरोपों से मैं उदास हूं, मगर हैरान नहीं हूं. उन्होंने कहा कि ऐसा करके मुझे बदनाम करने की साजिश की जा रही है. दरअसल ये असली मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश है. पायलट ने कहा था कि मैं ये मुद्दे उठाता रहा हूं और मैं मामले को लेकर उचित क़ानूनी कार्रवाई करूंगा. उन्होंने कहा कि मैं अपने विश्वासों पर कायम हूं. मुझ पर मनगढ़ंत आरोप लगाए गए हैं.

राजस्थान के CM अशोक गहलोत और मोदी के मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत में क्यों है '36 का आंकड़ा'?

पिछले साल कांग्रेस में शामिल हुए एक पूर्व बहुजन समाज पार्टी (BSP) के विधायक ने आरोप लगाया था कि बागी सचिन पायलट ने उन्हें भाजपा में जाने के लिए 35 करोड़ रुपये की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया था. गिरिराज सिंह मलिंगा ने इसके अलावा कहा था, 'यह दिसंबर से हो रहा है, यह कोई नई बात नहीं है. मैंने उनसे कहा था कि मैं ऐसा नहीं कर सकता. मैंने सचिन पायलट के साथ चर्चा की. उन्होंने मुझसे बात की और कहा कि आप कितना चाहते हैं. उन्होंने मुझसे 35 करोड़ की बात की. उन्होंने कहा कि मैंने बसपा को ऐसी ही बातों के कारण छोड़ दिया. अगर मैंने कांग्रेस छोड़ दी, तो मैं जनता को क्या बताऊं?' कांग्रेस विधायक ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ बातचीत की और उन्हें इस बात के लिए आगाह किया कि 'पार्टी बंटवारे के कगार पर है.' 

राजस्थान में सियासी संकट के बीच BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले ओम माथुर, इन मुद्दों पर चर्चा


उधर, राजस्थान के सियासी संग्राम (Rajasthan Crisis) में हाईकोर्ट में आज सुनवाई पूरी हो गई. कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद 24 जुलाई को फैसला सुनाने का निर्णय लिया है. तब तक विधानसभा स्पीकर सचिन पाय़लट व अन्य के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेंगे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: गहलोत Vs पायलट : 24 जुलाई को हाईकोर्ट सुनाएगा फैसला