कश्मीर में हत्याओं को लेकर शासन चला रहे लोगों पर सवाल उठने चाहिए: कांग्रेस

सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ जो लोग कश्मीर का शासन चला रहे हैं, जो लोग दिल्ली में बैठक कर कश्मीर में चुनाव भी नहीं करवाते, उनकी क्या भूमिका है, उस पर सवाल उठना चाहिए.’’

कश्मीर में हत्याओं को लेकर शासन चला रहे लोगों पर सवाल उठने चाहिए: कांग्रेस

कश्मीर में हो रही हत्याओं पर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों के भीतर आतंकवादियों द्वारा सात नागरिकों की हत्या किए जाने की निंदा करते हुए शुक्रवार को कहा कि इस केंद्रशासित प्रदेश का शासन चला रहे लोगों की भूमिका पर सवाल उठाए जाने चाहिए. पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा कि केंद्र सरकार को इस केंद्रशासित प्रदेश के निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाना चाहिए.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘आतंकियों द्वारा हमारे कश्मीरी बहनों-भाइयों पर बढ़ते हमले दर्दनाक और निंदनीय हैं. इस मुश्किल घड़ी में हम सब अपने कश्मीरी बहनों-भाइयों के साथ हैं.'' प्रियंका गांधी ने जोर देकर कहा, ‘‘केंद्र सरकार को तुरंत कड़े कदम उठाकर सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए.''

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘एक बार पाकिस्तान, आईएसआई और आतंकवादी मिलकर कश्मीर की शांति और उसके भाईचारे को, कश्मीरियत की हत्या करना चाहते हैं. लेकिन कश्मीरी पंडितों के नाम पर वोट बटोरने वाली मोदी सरकार कहां है?'' उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर की कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अन्य नेताओं ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की है. सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ जो लोग कश्मीर का शासन चला रहे हैं, जो लोग दिल्ली में बैठक कर कश्मीर में चुनाव भी नहीं करवाते, उनकी क्या भूमिका है, उस पर सवाल उठना चाहिए.''

जम्मू-कश्मीर में आम नागरिकों पर बढ़े हमलों के बीच श्रीनगर के ईदगाह इलाके में बृहस्पतिवार को आतंकवादियों ने एक महिला प्रधानाध्यापक समेत सरकारी विद्यालय के दो शिक्षकों की गोली मार कर हत्या कर दी.


पिछले पांच दिनों में घाटी में सात नागरिकों की हत्या हुयी है, जिनमें से छह की हत्या शहर में हुई है. मृतकों में से चार लोग अल्पसंख्यक समुदाय से थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी पढ़ेंः



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)