त्रिपुरा में बसने की अनुमति हासिल कर चुके ब्रू लोगों के नाम वोटर लिस्ट से हटाने का प्रस्ताव

हजारों ब्रू आदिवासी 1997 से त्रिपुरा में राहत शिविरों में रह रहे हैं, वे जातीय संघर्ष के कारण अपनी मातृभूमि मिजोरम से भाग गए थे

त्रिपुरा में बसने की अनुमति हासिल कर चुके ब्रू लोगों के नाम वोटर लिस्ट से हटाने का प्रस्ताव

मिजोरम से त्रिपुरा गए हजारों ब्रू आदिवासी शरणार्थी शिविरों मेंं रह रहे हैं.

आइजोल:

त्रिपुरा में बसने की अनुमति हासिल कर चुके ब्रू लोगों के नाम उनकी मातृभूमि मिजोरम की मतदाता सूची से हटाने के प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है. राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पी जवाहर ने बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कोलासिब जिले की तुइरियाल विधानसभा सीट पर उपचुनाव के मद्देनजर राजनीतिक दलों और नागरिक समाज संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि ब्रू मतदाताओं के नाम हटाने की मांग करने वाली याचिकाएं निर्चावन आयोग को भेज दी गई हैं.

हजारों ब्रू आदिवासी लोग 1997 से त्रिपुरा में राहत शिविरों में रह रहे हैं. वे जातीय संघर्ष के कारण पड़ोसी राज्य में पहुंचने के लिए अपनी मातृभूमि मिजोरम से भाग गए थे. अब इनकी संख्या 35 हजार से ज्यादा हो गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पिछले साल जनवरी में समुदाय के प्रतिनिधियों, केंद्र और त्रिपुरा और मिजोरम की सरकारों के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर के बाद कई विस्थापित ब्रू परिवारों को त्रिपुरा में नए घर मिले हैं.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)