PM मोदी ने 7 नई डिफेंस कंपनियों को राष्ट्र को किया समर्पित, बोले- '15-20 साल से लटका पड़ा था काम'

पीएम ने कहा, "आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश का लक्ष्य भारत को अपने दम पर दुनिया की बड़ी सैन्य ताकत बनाने का है, भारत में आधुनिक सैन्य इंडस्ट्री के विकास का है. पिछले सात वर्षों में देश ने ‘मेक इन इंडिया’ के मंत्र के साथ अपने इस संकल्प को आगे बढ़ाने का काम किया है."

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) विजयदशमी के मौके पर ऑर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड की जगह बनाई गई 7 नई रक्षा कंपनी देश को सौंपे हैं. इस मौके पर उन्होंने कहा,  "7 नई कंपनियों की ये शुरुआत देश की 41 ऑर्डिनेन्स फैक्ट्रीज़ को नए स्वरूप में लाने की संकल्प यात्रा का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि यह काम पिछले 15-20 साल से लटका हुआ था. मुझे पूरा भरोसा है कि ये सभी सात कंपनियाँ आने वाले समय में भारत की सैन्य ताकत का एक बड़ा आधार बनेंगी."

पीएम ने कहा कि इस पहल से देश की सैन्य ताकत का आधार बनेगा. उन्होंने कहा कि आजादी के बाद इसको अपग्रेड करने की जरूरत थी जो नहीं किया गया. पीएम ने कहा कि पिछले सात सालों में सरकार ने सैन्य क्षेत्र को आगे बढ़ाने का काम किया है. आजादी के बाद पहली बार इतने बड़े रिफॉर्म हो रहे हैं.

कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेन्स से जुड़े पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के कठिन समय के बाद हमारी अर्थव्यवस्था ने जितनी तेजी से वापसी की है, उससे पूरा विश्व भारत को लेकर आशा से भरा हुआ है. उन्होंने कहा कि अभी हाल में एक विश्व संस्था ने भी कहा है कि भारत फिर दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनने जा रहा है.

पीएम ने कहा कि इस वर्ष भारत ने अपनी आजादी के 75वें साल में प्रवेश किया है. आज़ादी के इस अमृतकाल में देश एक नए भविष्य के निर्माण के लिए नए संकल्प ले रहा है और जो काम दशकों से अटके थे, उन्हें पूरा भी कर रहा है. पीएम ने कहा, "विश्व युद्ध के समय भारत की ऑर्डिनेन्स फैक्ट्रीज़ का दम-खम दुनिया ने देखा है. हमारे पास बेहतर संसाधन होते थे, वर्ल्ड क्लास स्किल होता था.आज़ादी के बाद हमें जरूरत थी इन फैक्ट्रीज़ को upgrade करने की, न्यू एज टेक्नोलॉजी को अपनाने की! लेकिन इस पर बहुत ध्यान नहीं दिया गया."

पीएम ने कहा, "आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश का लक्ष्य भारत को अपने दम पर दुनिया की बड़ी सैन्य ताकत बनाने का है, भारत में आधुनिक सैन्य इंडस्ट्री के विकास का है. पिछले सात वर्षों में देश ने ‘मेक इन इंडिया' के मंत्र के साथ अपने इस संकल्प को आगे बढ़ाने का काम किया है."

- - ये भी पढ़ें - -
* गरबा देखकर कजन के साथ लौट रही 15 साल की लड़की से गैंगरप, आरोपी फरार
* क्रूज ड्रग्स केस देख रहे मुंबई NCB चीफ समीर वानखेड़े की सुरक्षा बढ़ी, लगाया था जासूसी का आरोप
* Navratri 2021: जानिए दशहरा के दिन ही क्यों मनाई जाती है सिंदूर खेला की रस्म, ये हैं उससे जुड़ी खास बातें

उन्होंने कहा, "आज देश के डिफेंस सेक्टर में जितनी transparency है, trust है, और technology driven approach है, उतनी पहले कभी नहीं रही.आज़ादी के बाद पहली बार हमारे डिफेंस सेक्टर में इतने बड़े reforms हो रहे हैं, अटकाने-लटकाने वाली नीतियों की जगह सिंगल विंडो सिस्टम की व्यवस्था की गई है."


पीएम ने युवाओं  से अपील की, "मैं देश के स्टार्टअप्स से भी कहूँगा, इन 7 कंपनियों के जरिए आज देश ने जो नई शुरुआत की है, आप भी इसका हिस्सा बनिए. आपकी रिसर्च, आपके products कैसे इन कंपनियों के साथ मिलकर एक-दूसरे की क्षमताओं से लाभान्वित हो सकते हैं, इस ओर आपको सोचना चाहिए."

वीडियो: जम्‍मू कश्‍मीर: पुंछ में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में जेसीओ और एक जवान शहीद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com