डिजिटल हेल्थ योजना : किस डॉक्टर ने आपको कौन सी दवा कब दी है, हर चीज का रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वाधीनता दिवस की 73वीं वर्षगांठ के अवसर पर 'नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन' (National Digital Health Mission) का ऐलान किया है.

डिजिटल हेल्थ योजना : किस डॉक्टर ने आपको कौन सी दवा कब दी है, हर चीज का रिकॉर्ड

PM मोदी ने लाल किले की प्राचीर से इस योजना की घोषणा की. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • भारत की आजादी की 73वीं वर्षगांठ
  • 'नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन' का ऐलान
  • पीएम मोदी ने की योजना की घोषणा
नई दिल्ली:

दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश भारत आज अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस (India Independence Day) मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने इस अवसर पर लाल किले की प्राचीर से लगातार 7वीं बार राष्ट्रीय ध्वज फहराया और राष्ट्र को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने पड़ोसी मुल्क को भारत की ताकत बताते हुए देश की तमाम उपलब्धियों और लक्ष्य का भी जिक्र किया. प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान 'नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन' (National Digital Health Mission) का भी ऐलान किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, 'जब कोरोना शुरू हुआ था, तब हमारे देश में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक लैब थी. आज देश में 1,400 से ज्यादा लैब हैं. आज से देश में एक और बहुत बड़ा अभियान शुरू होने जा रहा है. ये है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, भारत के हेल्थ सेक्टर में नई क्रांति लेकर आएगा.'

कोरोना की वजह से स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में यह 4 बातें रही मिसिंग, PM मोदी ने भी किया जिक्र

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, 'आपके हर टेस्ट, हर बीमारी, आपको किस डॉक्टर ने कौन सी दवा दी, कब दी, आपकी रिपोर्ट्स क्या थीं, ये सारी जानकारी इसी एक हेल्थ आईडी (नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत बनाई जाने वाली आईडी) में समाहित होगी. आज भारत में कोरोना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन्स इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं. जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन की भी तैयारी है.'

LOC हो या LAC, जिस किसी ने भी आंख उठाई सेना ने उसी भाषा में जवाब दिया : PM मोदी

साफ है कि इस योजना के तहत भारतवासियों को स्वास्थ्य लाभ मिलने में अब और सहूलियत प्रदान की जाएगी. इस मिशन के अंतर्गत पर्सनल मेडिकल रिकॉर्ड और जांच सेंटर जैसे संस्थानों को एक ही डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा. पीएम मोदी ने कहा कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि दूरदराज के इलाकों में रहने वाले लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाई जा सकें.


VIDEO: कोरोना की 3 वैक्सीन टेस्टिंग के चरण में, वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही उत्पादन शुरू होगा : पीएम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com