सरकार को चिंता, भारत में क्या असर डालेगा Omicron - होम आइसोलेशन की गाइडलाइन बदलीं

पिछले 9 दिनों में देश में कोरोना के मामले 6 गुना से ज्यादा बढ़े हैं, ओमिक्रॉन का डबलिंग रेट 3 दिनों का है.

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस की तीसरी लहर और ओमिक्रॉन वेरिएंट के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय होम आइसोलेशन (Home Isolation) की गाइडलाइन बदल दी हैं. पिछले 9 दिनों में देश में कोरोना के मामले 6 गुना से ज्यादा बढ़े हैं, ओमिक्रॉन का डबलिंग रेट 3 दिनों का है.देश में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद यह फैसला लिया गया है. 

देश में कोरोना केसों में जबरदस्त उछाल से सरकार की चिंता बढ़ी है. बताया जा रहा है कि सरकार इस नई लहर में इस बात से भी चिंतित कि डेल्टा वेरिएंट ने जितनी तबाही भारत में मचाई थी, उतनी तबाही दक्षिण अफ्रीका में नहीं हुई थी. ऐसे ही ओमिक्रॉन का दक्षिण अफ्रीका में ज्यादा असर देखने को नहीं मिल रहा है, ऐसे में चिंता यह है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट भारत में क्या असर डालेगा. कोरोना के माले बढ़ेंगे तो अस्पताल में दाखिले भी बढ़ेंगे, क्योंकि भारत में अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों की तादाद बहुत ज्यादा है. 

कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी, दिल्ली में आज आ सकते हैं 10 हजार कोविड केस : सरकार

साथ ही सूत्रों ने बताया, होम आइसोलेशन की नई गाइडलाइन को प्रभावी रूप से अमल में लाने को लेकर राज्यों को कंट्रोल रूम दुरुस्त रखने को कहा गया है. जिससे मरीज की मॉनिटरिंग राज्य सही से कर पाएं और उस मरीज की तबियत बिगड़ने पर उसको होम आइसोलेशन से अस्पताल में एडमिट करने की जरूरत हो तो एंबुलेंस, टेस्टिंग से लेकर अस्पताल में बेड आसानी से मिल पाए. 

एक ही हफ्ते में दैनिक औसत कोविड केसों में 285% का उछाल
23 से 29 दिसंबर के बीच रोज़ाना दर्ज हुए कोविड केसों की तुलना में 30 दिसंबर से 5 जनवरी के बीच दर्ज हुए COVID केसों में अंतर इतना बढ़ा हुआ है कि एक ही हफ्ते में दैनिक औसत में 285 फीसदी का उछाल दर्ज हुआ है. 23 से 29 दिसंबर के बीच सात दिन में कुल मिलाकर 56,722 केस दर्ज हुए थे, और दैनिक औसत 8,103 रहा था, जबकि अगले सात दिन, यानी 30 दिसंबर से 5 जनवरी के बीच कुल 2,18,667 कोविड केस सामने आए, जिनका दैनिक औसत 31,238 हो गया, जो 285 प्रतिशत ज़्यादा है.

COVID-19: भारत में 55.4% उछाल के साथ 58,097 नए मामले, सक्रिय मरीज़ों की संख्या 2 लाख पार

ओमिक्रॉन के मामले 2,000 पार
भारत में ओमिक्रॉन के मरीजों की संख्या दो हजार पार हो चुकी है. अब तक कुल 2,135 मामले दर्ज किए गए हैं. ये सभी मामले 24 राज्यों से सामने आए हैं. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 653 और दिल्ली में 464 मामले हैं. हालांकि, इनमें से  828 ओमिक्रॉन के मरीज ठीक भी हो चुके हैं.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


5 की बात : कोरोना की सुनामी, क्या क्या रखें सावधानी?