पुडुचेरी विधानसभा चुनाव में एनआर कांग्रेस के बीजेपी से गठबंधन करने की संभावना नहीं: सूत्र

Puducherry Assembly Election 2021: एनआर कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि उसके नेता एन रंगासामी अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं

पुडुचेरी विधानसभा चुनाव में एनआर कांग्रेस के बीजेपी से गठबंधन करने की संभावना नहीं: सूत्र

पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव के लिए 6 अप्रैल को मतदान होगा.

पुडुचेरी:

Puducherry Assembly Election 2021: अपनी पार्टी के तीन मनोनीत विधायकों की मदद से पुडुचेरी में नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को गिराने में कामयाब रही बीजेपी (BJP) खुद इस केंद्र शासित प्रदेश में ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस (All India NR Congress) को सहयोगी बनाना चाहती है. इसके बारे में कई लोग कहते हैं कि उसने गठबंधन करने के लिए जोर दिया था. एनआर कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि उसके नेता एन रंगासामी (N Rangasamy) अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं. पूर्व मुख्यमंत्री रंगासामी ने पिछले महीने नारायणसामी सरकार के गिरने के बाद शेष कुछ महीनों के लिए बीजेपी के तीन मनोनीत विधायकों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा नहीं किया था. उन्होंने बीजेपी नेता निर्मल कुमार सुराणा के साथ बैठक में गठबंधन को लेकर कोई जवाब नहीं दिया. 

पुडुचेरी के बीजेपी अध्यक्ष वी स्वामीनाथन ने आज कहा कि, "हम उनका सम्मान करते हैं, हम चाहते हैं कि वे हमारे मुख्यमंत्री बनें. बाकी उनका निर्णय है. उन्हें समझना चाहिए कि वे सिर्फ केंद्र के साथ गठबंधन करके बदलाव ला सकते हैं."

रंगासामी के करीबी एक सूत्र ने एनडीटीवी को बताया, "पार्टी के पास अच्छे उम्मीदवार हैं और रंगासामी चाहते हैं कि उनकी पार्टी अपनी सरकार बनाने के लिए 30 में से कम से कम 18 सीटों पर चुनाव लड़े. उन्हें लगता है कि बीजेपी के साथ गठबंधन की कोई जरूरत नहीं है. और यह काउंटर-प्रोडक्टिव होगा."

पार्टी के एक अन्य सूत्र ने कहा कि "हो सकता है कि बीजेपी उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करे और उन्हें उनकी मनचाही सीटें दे दे, तो हो सकता है वे हां कह दें."

कांग्रेस की सहयोगी डीएमके, जिसने पहले अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने का विचार बनाया था, ने भी एनआर कांग्रेस को यूपीए का हिस्सा बनकर लड़ने के लिए आमंत्रित किया है. डीएमके के पूर्व मंत्री एएमएच नजीम ने कुछ दिनों पहले एक वीडियो अपील में कहा था, "कांग्रेस, डीएमके और हमारे सभी सहयोगी उसके पीछे खड़े होने के लिए तैयार हैं."

दूसरी तरफ पुडुचेरी कांग्रेस के अध्यक्ष एवी सुब्रमण्यन ने भी इसका समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि "इससे गठबंधन को भारी बहुमत हासिल करने में मदद मिलेगी. हमें बीजेपी द्वारा अपनाए जा रहे अलोकतांत्रिक तरीकों को समाप्त करना होगा."

इसी तरह का रुख कमल हासन की पार्टी एमएनएम (MNM) की ओर से सामने आया है.


कांग्रेस के नेतृत्व वाली पांच साल पुरानी नारायणसामी सरकार पिछले महीने एक मंत्री सहित छह विधायकों के इस्तीफा देने से गिर गई थी. इनमें से पुडुचेरी के पूर्व कांग्रेस प्रमुख नमस्सिवम सहित दो बीजेपी में शामिल हो गए थे. एक और वरिष्ठ नेता लक्ष्मीनारायण एनआर कांग्रेस में शामिल हो गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि बीजेपी के अकेले चुनाव लड़ने की संभावना है. यह स्पष्ट नहीं है कि उसकी सहयोगी एआईएडीएमके (AIADMK) एनआर कांग्रेस के साथ अपने संबंधों को जारी रखेगी या बीजेपी गठबंधन में चली जाएगी.