पीएम मोदी की बैठक का लाइव प्रसारण, मनीष सिसोदिया ने याद दिलाई 'प्रोटोकॉल' वाली बात

देश में कोरोना की स्थिति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राज्‍य और उनके जिला अधिकारियों के साथ बैठक की.

नई दिल्ली:

देश में कोरोना की स्थिति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को राज्‍य और उनके जिला अधिकारियों के साथ बैठक की. आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता और दिल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने इस मीटिंग में पीएम के बयान का टीवी पर लाइव प्रसारण किए जाने को लेकर एक ट्वीट किया है. सिसोदिया ने अपने ट्वीट में लिखा, 'आज की मीटिंग में प्रधानमंत्री का वक्तव्य TV पर लाइव प्रसारित हुआ. पिछली बैठक में दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के लाइव प्रसारण पर आपत्ति जताई गई थी कि प्रोटोकाल तोड़ा गया, आज के प्रोटोकॉल में live broadcast की इजाज़त थी?'  सिसोदिया ने आगे लिखा कि इस बात का पता कैसे चले कि कौन सी बैठक से लाइव प्रसारण हो सकता है और कौन सी में नहीं.

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना : देश के भविष्य के लिए मोदी ‘सिस्टम' को नींद से जगाना जरूरी

hbqsq2v

गौरतलब है कि पिछले माह 23 अप्रैल को कोरोना की दूसरी लहर के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना संक्रमण से सबसे ज्‍यादा प्रभावित 10 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से मुलाकात की थी.  टीवी पर लाइव बातचीत के दौरान दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने देश की राजधानी के अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन की कमी की ओर ध्‍यान आकर्षित किया. केंद्र सरकार ने बाद में आरोप लगाया कि केजरीवाल इस प्‍लेटफार्म का इस्‍तेमाल राजनीति करने और झूठ फैलाने के लिए कर रहे हैं.सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि सीएम केजरीवाल ने पीएम-सीएम मीट को 'राजनीतिक उद्देश्‍य' से इस्‍तेमाल किया. उन्‍होंने ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई हवाई मार्ग से पहुंचाने का मुद्दा उठाया, उन्‍हें शायद पता नहीं कि यह पहले से ही किया जा रहा है. बाद में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों की बैठक के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने भाषण के लाइव प्रसारण के लिए खेद जताया था.पीएम मोदी ने 'इन हाउस मीटिंग' के लाइव टेलीकॉस्‍ट को लेकर ऐतराज जताया था जिसके बाद सीएम केजरीवाल ने खेद व्‍यक्‍त किया था. 


आपदा में धैर्य सबसे बड़ा मित्र, पर कुछ लोगों ने भय का वातावरण बनाया : मुख्यमंत्री योगी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मंगलवार की बैठक को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ हमारे मुख्य हथियार हैं: लोकल कंटेनमेंट जोन, तेजी के साथ जांच, सही और पूरी जानकारी और कालाबाजारी पर लगाम. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस युद्ध में आप सब एक अहम भूमिका में है, आप इस युद्ध के एक तरह से फील्ड कमांडर हैं. कोरोना से निपटने से जुड़े अपने अच्छे अनुभव मुझे भेजिए, मेरे पास पहुंचाइए. मैं इसका दूसरे जिलों में कैसे उपयोग हो, इसको लेकर जरूर सोचूंगा. आपके इनोवेशन देश के काम आने चाहिए.