परमबीर सिंह के पत्र मामले में ट्विस्‍ट, ACP संजय पाटिल ने पब-बार से जुड़ी बात होने से किया इनकार..

संजय पाटिल के मुताबिक, वो अंदर नहीं गए थे, बाहर डीसीपी भुजबल का इंतजार करते रहे. रात 1 बजे मीटिंग खत्म होने के बाद डीसीपी भुजबल बाहर निकले तब उनके साथ मंत्री के सचिव पलांडे भी साथ थे.

परमबीर सिंह के पत्र मामले में ट्विस्‍ट, ACP संजय पाटिल ने पब-बार से जुड़ी बात होने से किया इनकार..

मुंबई पुलिस आयुक्‍त पद से हटाए जाने के बाद परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए थे

मुंंबई:

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्‍त परमबीर सिंह (Param Bir Singh) के पत्र से जुड़े मामले में नया ट्विस्‍ट आ गया है. परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के खिलाफ वसूली का आरोप लगाते समय पत्र में समाजसेवा शाखा के एसीपी संजय पाटिल के साथ उनकी मोबाइल चैट को जोड़ा था. लेकिन क्राइम ब्रांच के जॉइंट सीपी मिलिंद भारम्बे को दिए बयान में संजय पाटिल ने पब या बार से जुड़ी बात होने से इनकार किया है. एसीपी संजय पाटिल ने बताया है कि 4 मार्च 2021 को वे गृहमंत्री अनिल देशमुख के बंगले पर गये थे क्योंकि डीसीपी भुजबल वहां थे जिन्हें उन्हे रिपोर्ट देनी थी. 


एंटीलिया मामले में शिकंजा कसने के बाद उठे सवाल, किसके कहने पर काम कर रहा था सचिन वाजे..

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


संजय पाटिल के मुताबिक, वो अंदर नहीं गए थे, बाहर डीसीपी भुजबल का इंतजार करते रहे. रात 1 बजे मीटिंग खत्म होने के बाद डीसीपी भुजबल बाहर निकले तब उनके साथ मंत्री के सचिव पलांडे भी साथ थे. पलांडे ने तब होटलों के बारे में पूछा था तब दोनों ने ऐसी कोई जानकारी होने से इनकार किया था. पाटिल ने आगे बताया है कि सचिन वाजे उन्हें पहले एक बार मिले थे, तब उनको गृहमंत्री की ब्रीफिंग की जानकारी दी थी. तब सचिन वाजे ने बताया था कि गृहमंत्री ने मुंबई में 1750 बार रेस्टोरेंट से प्रति बार 3 लाख रुपये मिलने की जानकारी होने की बात वाजे से पूछी थी. लेकिन सचिन वाजे की गृहमंत्री से प्रत्यक्ष मुलाकात हुई थी या नहीं इसकी जानकारी होने से भी संजय पाटिल ने इनकार किया.