जिम ट्रेनर के हत्यारों के समर्थन में महापंचायतें, भड़काऊ भाषण देने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं

नूह जिले के इंद्री गांव में पिछले सप्ताह हुई एक महापंचायत में करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने भड़काऊ भाषण दिया

जिम ट्रेनर के हत्यारों के समर्थन में महापंचायतें, भड़काऊ भाषण देने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं

नूह में 17 मई को जिम ट्रेनर की हत्या कर दी गई थी.

खास बातें

  • नूह जिले के इंद्री गांव में पिछले सप्ताह हुई महापंचायत
  • करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने भड़काऊ भाषण दिया
  • एफआईआर में नामजद 14 में से 12 आरोपी गिरफ्तार
चंडीगढ़:

हरियाणा के नूह (Nuh) जिले में जिम ट्रेनर आसिफ खान (Asif Khan) की हत्या को दो सप्ताह से अधिक समय बीत चुका है और आरोपी के समर्थन में क्षेत्र में महापंचायतों के आयोजनों की सिलसिला चलता रहा है. इनमें वक्ताओं ने भड़ाकाऊ भाषण दिए. नूह जिले के इंद्री गांव में पिछले सप्ताह हुई एक महापंचायत में करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने भड़काऊ भाषण दिया.

आसिफ के चाचा हनीफ मोहम्मद का कहना है कि ''माहौल खराब करने के लिए महापंचायत की जा रही है ताकि हमारा केस कमजोर हो.''

करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने तब सुर्खियां बटोरी थीं जब उन्होंने फिल्म पद्मावत के निर्माताओं के खिलाफ हिंसक विरोध प्रदर्शन किया था. अमू हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के करीबी हैं.


एफआईआर में नामजद 14 में से 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन अब तक अभद्र भाषा और बिना अनुमति महापंचायत आयोजित करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है. डीएसपी सुधीर तेनजा ने कहा कि ''हमने इस मामले में दर्ज 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, किसी को बख्शा नहीं जाएगा.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मेवात जिला नीति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार देश के सबसे पिछड़े जिलों में से एक है. यह जिला अक्सर साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण के लिए सुर्खियों में रहा है. कोविड के समय में जब सभाओं पर प्रतिबंध लगा दिया गया है तब ऐसी महापंचायतें न केवल जन स्वास्थ्य को लेकर चिंता का कारण है, बल्कि समाज के ताने-बाने को भी नुकसान पहुंचा रही हैं.