वैक्सीन की कमी के चलते कर्नाटक सरकार ने टीका आयात करने का फैसला किया

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कोरोना से संबंधित मुद्दों को जल्द से जल्द हल करने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की

वैक्सीन की कमी के चलते कर्नाटक सरकार ने टीका आयात करने का फैसला किया

प्रतीकात्मक फोटो.

बेंगलुरु:

कर्नाटक में कोविड-19 के टीकों की कमी होने और संक्रमण के मामलों में खतरनाक वृद्धि के साथ इसकी मांग काफी बढ़ने के बीच राज्य सरकार ने बुधवार को टीके बाहर से आयात करने का फैसला किया. कर्नाटक के मुख्य सचिव पी रवि कुमार ने यहां संवाददाताओं से कहा, "हमें 18-44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए टीके खरीदने हैं. हम पहले ही देश में दो टीका निर्माताओं को तीन करोड़ खुराक के लिए पैसे दे चुके हैं. तीन करोड़ खुराक में से हमें सात लाख मिले हैं." उन्होंने कहा कि स्टॉक आने पर सरकार लोगों को टीके लगाएगी.


रवि कुमार ने कहा, "चूंकि हमें पर्याप्त टीके नहीं मिल रहे हैं, क्योंकि सिर्फ दो टीका निर्माता हैं, हम टीके को आयात करने के ऑर्डर जारी करने जा रहे हैं." उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने भारत के बाहर के केवल एक टीके को मंजूरी दी है. उन्होंने कहा कि यदि अन्य टीकों की अनुमति दी जाती है, तो और टीके के ऑर्डर दिए जा सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने इस मुद्दे को जल्द से जल्द हल करने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की.
एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने जिलों में टीके की उपलब्धता, ऑक्सीजन की आपूर्ति और आईसीयू बेड पर भ्रम दूर करने सहित अधिकारियों को कई निर्देश दिए.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)