भारत ने काबुल दूतावास के स्टाफ को सुरक्षित निकाला, एयरफोर्स की विशेष फ्लाइट से हो रही वतन वापसी

India Kabul embassy staff : स्पेशल एयरफोर्स फ्लाइट के जरिये अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास के कर्मी स्वदेश लौटे. करीब 10 बजे इंडियन एयरफोर्स की सी-17 की  फ्लाइट दिल्ली पहुंच भी गई. इसमें अफगानिस्तान में भारतीय राजदूत रुदेंद्र टंडन भी थे. 

भारत ने काबुल दूतावास के स्टाफ को सुरक्षित निकाला, एयरफोर्स की विशेष फ्लाइट से हो रही वतन वापसी

Afghanistan News : भारत सरकार ने हिन्दू-सिखों की सुरक्षित वापसी का भी भरोसा दिलाया

नई दिल्ली:

भारत ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित भारतीय दूतावास के स्टॉफ (India Kabul embassy staff) को सुरक्षित निकाल लिया है. उन्हें विशेष विमान के जरिये भारत लाया गया है. खबरों के मुताबिक, अफगानिस्तान में मानवीय संकट के बीच भारत ने यह बड़ी कामयाबी हासिल की है. स्पेशल एयरफोर्स फ्लाइट के जरिये अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास के कर्मी स्वदेश लौटे. दरअसल, अफगानिस्तान में एयरस्पेस सोमवार को बंद हो गया था, जिसके बाद विमानों की आवाजाही अटक गई थी. हालांकि इसके दोबारा शुरुआत होने के बाद से भारत अपने नागरिकों और अन्य लोगों को स्वदेश लाने की प्रक्रिया शुरू कर चुका है. करीब 10 बजे इंडियन एयरफोर्स की सी-17 की  फ्लाइट दिल्ली पहुंच भी गई. इसमें अफगानिस्तान में भारतीय राजदूत रुदेंद्र टंडन भी थे. 

इससे पहले विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि स्पेशल एयरफोर्स फ्लाइट के जरिये अफगानिस्तान में भारतीय राजदूत, अन्य स्टॉफ और आईटीबीपी के जवानों को भारत लाया जा रहा है.

काबुल में तैनात आईटीबीपी के करीब 100 जवान वायुसेना के जहाज में भारत के लिए उड़े. काबुल में तैनात आईटीबीपी के 100 जवान वायुसेना के ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट सी 17 में भारत के लिए उड़े. यह एयरक्राफ्ट गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर लैंड करेगा. इससे पहले सोमवार को आईटीबीपी के 50 जवान देश लौट चुके हैं. आईटीबीपी के जवान काबुल, मजारे शरीफ, हेरात , कंधार और जलालाबाद में इंडियन मिशन की सुरक्षा में तैनात थे. ये जवान विदेश मंत्रालय के डेपुटेशन पर तैनात थे. सुरक्षा कारणो की वजह से आधिकारिक तौर पर आईटीबीपी की ओर से कुछ नही बताया गया है पर सूत्रों का कहना है अब अफगानिस्तान में आईटीबीपी के सभी जवान निकल चुके हैं.

VIDEO: काबुल में तबाही का मंजर, विमान के पहियों पर लटके 3 लोग गिरे

भारत ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को देखते हुए वीजा को आसान बनाने का भी फैसला किया है. भारत ने आपात स्थिति में तुरंत वीजा देने के लिए ऑनलाइन आवेदन और निपटारे की नई श्रेणी बनाई है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जानकारी दी है कि अफगानिस्तान में मौजूदा हालातों को देखते हुए वीजा प्रावधानों की समीक्षा की गई है. ऑनलाइन वीजा की नई श्रेणी बनाई गई है. इसे ई-इमजेंसी एक्स-मिस वीजा (“e-Emergency X-Misc Visa) नाम दिया गया है. यह भारत में प्रवेश के वीजा आवेदनों का तेजी से निपटारा करने में मदद करेगा.

तालिबान ने अमेरिकी हितों को नुकसान पहुंचााया, तो उसे विनाशकारी नतीजे भुगतने पड़ेंगे : बाइडेन 

अफगानिस्तान से भारतीयों की वापसी पर सरकार ने पहले ही भरोसा दिलाया है. विदेश मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि अफगानिस्तान में हालात बहुत तेजी से बदले हैं. सरकार अफगानिस्तान की गतिविधियों पर पैनी निगाह बनाए हुए है. वहां मौजूद भारतीय नागरिकों की सुरक्षा के लिए लगातार परामर्श किया जा रहा है. उनसे लौटने की अपील भी की गई है. कुछ भारतीय अभी भी वहां हैं और उनके संपर्क में हैं जो लौटना चाहते हैं.


नकदी से भरे हेलीकॉप्टर में काबुल से भागे थे अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी : मीडिया रिपोर्ट

विदेश मंत्रालय ने कहा, हम अफगान सिख और हिन्दू समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ संपर्क में हैं. जो भारत आना चाहेंगे हम उनकी मदद करेंगे. ऐसे अफगान नागरिक भी हैं, जो भागीदार रहे हैं. भारत उनका साथ भी देगा. काबुल में व्यावसायिक उड़ानों को सोमवार रोक दिया गया था. इससे वापसी के काम पर असर पड़ा था. विदेश मंत्रालय ने कहा था कि हम विमानों के फिर से चालू होने का इंतजार कर रहे हैं. अफगानिस्तान के हालात की लगातार गहन समीक्षा की जा रही है. सरकार अफगानिस्तान में भारतीय नागरिकों और हितों की रक्षा के लिए हर कदम रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हजारों की भीड़ अफगानिस्तान छोड़ने को बेचैन, देखिए काबुल एयरपोर्ट की सैटेलाइट तस्वीरें