50 रुपये लेकर घर से निकला था किसान प्रदर्शन स्‍थल पर मारा गया शख्‍स, गांववाले बोले- ''उसे लालच दिया गया''

चीमा खुर्द गांव के अन्‍य लोगों ने भी इस बात को दोहराया कि विक्टिम (लखबीर) को नशे की लत थी और वह कुछ दिन पहले तक गांव में था.

50 रुपये लेकर घर से निकला था किसान प्रदर्शन स्‍थल पर मारा गया शख्‍स, गांववाले बोले- ''उसे लालच दिया गया''

सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह को शुक्रवार सुबह पीट-पीटकर मार डाला गया

दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन स्‍थल पर शुक्रवार की सुबह जिस शख्‍स लखबीर सिंह की सिखों के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब को कथित रूप से अपवित्र करने के आरोप में बर्बर तरीके से हत्‍या की गई, उसके गांव चीमा खुर्द के लोगों का कहना है कि उसे (लखबीर को) नशे की लत थी और ऐसा करने के लिए उसे प्रलोभन दिया गया था. तरनतारण जिले के एक रिटायर सेना कर्मी हरभजन सिंह ने कहा, 'वह (लखबीर) नशे का आदी था और उसे लालच देकर सिंघु बॉर्डर ले जाया गया  होगा.'

उन्‍होंने कहा कि लखबीर सिंह चार-पांच दिन पहले गांव में ही था और उसकी निर्ममतापूर्वक हत्‍या का वीडियो देखकर हर किसी को धक्‍का लगा है. उन्‍होंने कहा, 'वह बेरोजगार था और परिवार का भरणपोषण सही से नहीं कर पाता था, उसके पिता की भी मौत हो चुकी है.'

चीमा खुर्द गांव के अन्‍य लोगों ने भी इस बात को दोहराया कि विक्टिम (लखबीर) को नशे की लत थी और वह कुछ दिन पहले तक गांव में था. एक अन्‍य शख्‍स ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, 'वह (लखबीर) अपने परिवार के साथ रहता था और उसकी पत्‍नी अलग रहती थी. 'उसने कहा, 'लखबीर, 'अपवित्र' करने में शामिल नहीं हो सकता. '

गांव के एक अन्‍य निवासी मासा सिंह ने कहा, विक्टिम (लखबीर) पर (पवित्र ग्रंथ को) 'अपवित्र' के आरोप गलत हैं. उन्‍होंने कहा, 'वह ऐसा नहीं कर सकता, वह इस तरह का व्‍यक्ति नहीं था.'

लखबीर की बहन राज कौर ने एएनआई को बताया कि वह चार-पांच दिन पहले 50 रुपये लेकर घर से यह कहकर निकला था कि वह छबर में काम करने जा रहा है और एक हफ्ते में वापस आएगा. राज कौर ने कहा कि उनका बाई गुरुग्रंथ साहिब का अपमान नहीं कर सकता है. उसके हत्यारों को सजा मिलनी चाहिए.

गौरतलब है कि 35 वर्ष का लखबीर एक मजदूर था और उसके परिवार में एक बहन, पत्नी और तीन बेटियां हैं, जिनमें से सबसे बड़ी 12 साल की है और सबसे छोटी आठ साल की है. सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह को शुक्रवार सुबह पीट-पीटकर मार डाला गया और उसका बायां हाथ और दाहिना पैर काट दिया गया. हत्यारों ने शव को पुलिस के बैरिकेड्स से बांध दिया और उसे वहीं छोड़ दिया.  


मामला सामने आने के बाद विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे किसान संघों के एकछत्र निकाय संयुक्त किसान मोर्चा ने घटना की निंदा की थी और हत्या से पल्ला भी झाड़ लिया. घटना के कम से सामने आए वीडियो में दिखाया गया है कि निहंगों की वेशभूषा में लोगों का एक बड़ा समूह लखबीर सिंह के आसपास खड़ा है और उनसे सवाल पूछ रहा है. वीडियो में दिखाया गया है कि उसका बायां हाथ कट जाने के बाद समूह उसके ऊपर खड़ा है और वह खून से लथपथ है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* आर्यन को शाहरुख खान-गौरी ने मनीऑर्डर से भेजे 4,500 रुपये, अब खा सकेंगे जेल की कैंटीन से मनपसंद खाना
* 'बधाई, मोदी जी' : वैश्विक भुखमरी सूचकांक में भारत के फिसलने पर कपिल सिब्बल का तंज
* किसानों के प्रदर्शन स्थल पर शख्स की पीट-पीटकर हत्या, बैरिकेड से बांधकर काट डाली कलाई, शव लटकाया