किसानों के प्रदर्शन स्थल पर शख्स की पीट-पीटकर हत्या, बैरिकेड से बांधकर काट डाली कलाई, शव लटकाया

Singhu Border Murder: मृतक का एक हाथ कटा हुआ है. तस्वीर से साफ होता है कि हत्या से पहले उसके साथ मारपीट की गई है और उसे घसीटा गया है. लाश के दोनों हाथ बैरिकेड से बंधे हुए हैं. आरोप है कि धरना स्थल पर ही मौजूद कुछ लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया है. आरोप निहंगों पर लग रहे हैं.

नई दिल्ली:

दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर (Delhi-Haryana Border) पर सोनीपत जिले के सिंघु बॉर्डर पर एक युवक की बर्बर तरीके से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. मारे गए युवक पर गुरु ग्रंथ साहिब से छेड़छाड़ करने का आरोप है.  तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग पर चल रहे किसानों के विरोध-प्रदर्शन के मुख्य स्थल के पीछे बैरिकेड पर युवक की लाश बंधी और लटकी हुई मिली है. लाश देखने से साफ होता है कि उसके साथ बर्बरता की गई है. मौके पर खून बिखरे पड़े थे.

मृतक की पहचान कर ली गई है. उसका नाम लखबीर सिंह है जो पंजाब के तरनतारन का रहने वाला था. उसकी उम्र करीब 35 साल थी और वह मजदूरी करता था. जानकारी के मुताबिक मंच के नजदीक पकड़ कर हत्या की गयी है. लखबीर सिंह को हरनाम सिंह ने गोद लिया था, जब उसकी उम्र 6 महीने ही थी. लखबीर के जैविक पिता दर्शन सिंह हैं, जिनकी मौत हो चुकी है. इसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं रहा है.

प्रारंभिक रिपोर्टों में निहंगों- एक 'योद्धा' सिख समूह- पर हरियाणा के सोनीपत जिले के कुंडली इलाके में हुई इस क्रूर और बर्बर हत्या का आरोप लगाया जा रहा है. वाकये का एक वीडियो सामने आया है जिसमें निहंगों के एक समूह को शख्स के ऊपर चढ़ा हुआ दिखाया जा रहा है. शख्स के बाएं हाथ की कलाई कटी हुई है और जमीन पर बहुत खून बिखरा पड़ा है.

वीडियो में दिख रहा है कि निहंग, जिनमें से कुछ भाले लिए हुए हैं, उस शख्स के चारों ओर खड़े हैं और उससे अपना नाम और पैतृक गांव के बारे में पूछ रहे हैं. वीडियो में दिख रहा है कि घायल शख्स की मदद करने कोई आगे नहीं आ रहा है.

तस्वीर से साफ होता है कि हत्या से पहले उसके साथ मारपीट की गई है और उसे घसीटा गया है. लाश के दोनों हाथ बैरिकेड से बंधे हुए हैं. आरोप है कि धरना स्थल पर ही मौजूद कुछ लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया है. आरोप निहंगों पर लग रहे हैं.

सोनीपत पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया है. शुक्रवार की सुबह प्रदर्शनकारी किसानों के मुख्य मंच के पीछे यह लाश मिली है. सूचना पर जैसे ही पुलिस वहां पहुंची, उसे विरोध का सामना करना पड़ा लेकिन बीच-बचाव के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर लिया. पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. संयुक्त किसान मोर्चा ने इस वारदात के बाद दोपहर 12 बजे एक बैठक बुलाई है. माना जा रहा है कि मोर्चा उसके बाद कोई बयान जारी कर सकता है.

- - ये भी पढ़ें - -
* गरबा देखकर कजन के साथ लौट रही 15 साल की लड़की से गैंगरप, आरोपी फरार
* क्रूज ड्रग्स केस देख रहे मुंबई NCB चीफ समीर वानखेड़े की सुरक्षा बढ़ी, लगाया था जासूसी का आरोप
* Navratri 2021: जानिए दशहरा के दिन ही क्यों मनाई जाती है सिंदूर खेला की रस्म, ये हैं उससे जुड़ी खास बातें

पिछले साल निहंगों से जुड़ी एक और घटना हुई थी. पंजाब के पटियाला में निहंगों ने एक पुलिस वाले का हाथ तलवार से तब काट दिया था, जब उसने  कोविड लॉकडाउन के दौरान उनसे 'मूवमेंट पास' दिखाने के लिए कहा था. हालांकि, बड़ी सर्जरी के बाद पंजाब पुलिस के सहायक सब-इंस्पेक्टर हरजीत सिंह ठीक हो गए. उन्हें पदोन्नत भी किया गया है, जबकि इस हमले में घायल हुए तीन अन्य पुलिसकर्मियों को मेडल से सम्मानित किया गया.

केंद्र के नए कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए किसान एक साल से अधिक समय से सिंघू बॉर्डर पर जमा हैं. पिछले महीनों में दिल्ली -हरियाणा बॉर्डर पर कई जगह किसानों शिविर स्थापित कर लिए हैं.

वीडियो: जम्‍मू कश्‍मीर: पुंछ में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में जेसीओ और एक जवान शहीद
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com