'Farmers protest' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | मंगलवार जून 8, 2021 11:29 PM IST
    ट्विटर ने नए आईटी नियमों के पालन में देरी को लेकर हो रही आलोचना के बीच यह कदम उठाया है. पंजाब में जन्मे और कनाडा में पले-बढ़े जसविंदर सिंह बैंस उर्फ जैजी बी ने गत दिसंबर में सिंघू बॉर्डर पहुंचकर तीन केंद्रीय कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में डटे किसानों का समर्थन किया था और वह लगातार किसान आंदोलन (Farmers Portest) के समर्थन में ट्वीट करते रहे हैं.
  • India | सोमवार जून 7, 2021 11:31 PM IST
    टोहाना पुलिस स्टेशन के बाहर किसान प्रदर्शन कर रहे थे. किसानों के सख्त रुख को देखते हुए हरियाणा प्रशासन ने तीसरे किसान मक्खन सिंह को भी रिहा कर दिया है. दरअसल किसानों ने बुधवार रात यहां जननायक जनता पार्टी (JJP) के विधायक देवेंद्र सिंह बबली के आवास का घेराव करने की कोशिश की थी. जिसके बाद किसानों के एक समूह के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. पुलिस ने घटना के सिलसिले में विकास सिसार, रवि आजाद और मक्खन सिंह को गिरफ्तार किया था.
  • India | रविवार जून 6, 2021 05:01 PM IST
    Farmers Protest Haryana : हरियाणा सरकार के सहयोगी दल जननायक जनता पार्टी के विधायक देवेंद्र सिंह बबली (Haryana MLA Devendra Singh Babli) का घेराव करने के मामले में दो किसान नेताओं को पिछले हफ्ते गिरफ्तार किया गया था. इन गिरफ्तारियों का किसान नेता विरोध कर रहे हैं.
  • India | शनिवार जून 5, 2021 09:26 PM IST
    जेजेपी के हरियाणा के विधायक देवेंद्र सिंह बबली, जिनकी पार्टी का सत्तारूढ़ भाजपा के साथ गठबंधन है,  ने मंगलवार को राज्य के टोहाना शहर में किसानों के एक समूह पर अभद्र टिप्पणी करने के लिए माफी मांगी है. किसान केंद्र के विवादास्पद कृषि कानूनों का विरोध कर रहे थे. बबली ने शनिवार की शाम को प्रदर्शनकारी किसानों के नेताओं के साथ एक बैठक के बाद कहा, "मैं उन लोगों को माफ करता हूं जो एक जून को हुई घटना में शामिल थे और उन शब्दों का इस्तेमाल करने के लिए माफी मांगता हूं जो एक जन प्रतिनिधि को शोभा नहीं देते. मुझे खेद है और मैं माफी मांगता हूं." 
  • India | शनिवार जून 5, 2021 07:03 PM IST
    किसानों (Farmers) ने शनिवार को पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) में बीजेपी (BJP) नेताओं के आवास के पास और अन्य स्थानों पर केंद्र के तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) की प्रतियां जलाईं. पिछले साल कृषि कानूनों से जुड़े अध्यादेश लागू होने के दिन को किसान ‘संपूर्ण क्रांति दिवस’ के तौर पर मना रहे हैं. काला झंडा थामे किसानों ने इन कानूनों को वापस नहीं लिए जाने को लेकर बीजेपी नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कहा कि इन कानूनों से कृषक समुदाय ‘बर्बाद’ हो जाएगा.
  • India | शुक्रवार जून 4, 2021 12:07 AM IST
    टिकैत ने यहां जींद और नरवाना के बीच स्थित खटकड़ टोल पर किसानों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘केंद्र सरकार दिल्ली के बॉर्डरों पर चल रहे किसान आंदोलन को जींद के आस-पास शिफ्ट करवाना चाहती है. दिल्ली के बॉर्डरों पर चल रहा किसानों का धरना वहीं पर जारी रहेगा. जो केंद्र सरकार की चाल है उसको कामयाब नहीं होने देंगे. हम दिल्ली को किसी सूरत में नहीं छोड़ेंगे.’’
  • India | बुधवार मई 26, 2021 09:18 PM IST
    संयुक्त मोर्चा की ओर से मनाए गए काला दिवस और बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन (Farmers Protest) की अगुवाई कर रहे भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि हमारे लिए इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है कि हमें बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर काला दिवस मनाना पड़ रहा है, हालांकि यह मात्र तिथि का संयोग है. भारत बुद्ध का देश है और हम बुद्ध के अनुयायी. टिकैत ने कहा कि किसान अपने आंदोलन को शांति पूर्वक चलाएंगे.
  • India | बुधवार मई 26, 2021 06:55 PM IST
    किसान आंदोलन (Farmers Protest) को आज दिल्ली के बॉर्डर पर 6 महीने का वक्त हो चुका है. कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ चलने वाले यह आंदोलन मौसम की मार, सरकार की बेरुखी सहने के अलावा कोरोनावायरस (Coronavirus) की आपदा भी झेल रहा है. किसान नेता बिना शर्त बात करने को तैयार हैं लेकिन फिलहाल सरकार ने 22 जनवरी के बाद किसानों से कोई बातचीत नहीं की है. 6 महीने बाद किसान आंदोलन की तस्वीर क्या है और लोग क्या सोच रहे हैं, NDTV ने यह जानने की कोशिश की.
  • India | बुधवार मई 26, 2021 12:55 PM IST
    सिंघु बार्डर पर भी कृषि कानून के खिलाफ किसान काले झंडा दिखाकर काला दिवस मना रहे हैं. किसानों का कहना है कि कोरोना का डर दिखाकर सरकार उनको हटाना चाहती है.  भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, "हमारा विरोध सरकार से है. सरकार तो तिरंगे को भी कहती है क्यों ले लिए. 6 महीने हो गए हैं सरकार नहीं सुन रही है तो काले झंडे तो लगाएंगे ही."
  • India | मंगलवार मई 25, 2021 12:52 PM IST
    हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में कोरोना के मामलों में काफी इजाफा हुआ है. राज्य की भाजपा सरकार ने इसके लिए किसानों के आंदोलन में हिस्सा लेने को जिम्मेदार ठहराया है.
और पढ़ें »
'Farmers protest' - more than 1000 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com