मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर ने उनके खिलाफ जांच को लेकर बांबे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) सहित 33 के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई. पुलिस निरीक्षक भीमराव घाड़गे की शिकायत पर अकोला के शहर कोतवाली पुलिस में यह मामला दर्ज किया है.

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर ने उनके खिलाफ जांच को लेकर बांबे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया

Param Bir Singh ने हाईकोर्ट में लगाई है गुहार

मुंबई:

पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ( former Mumbai police commissioner parambir Singh) ने बांबे हाई कोर्ट ( Bombay High Court) में नई अर्जी दी है. अर्जी में अपने खिलाफ चल रही दो जांचों को चुनौती दी गई है. परमबीर सिंह ने शिकायत की है कि 19 अप्रैल को जब वो डीजीपी संजय पांडे से मिले थे तब पांडे ने कहा था कि महाराष्ट्र सरकार उनके खिलाफ एक से ज्यादा मामले दर्ज करने जा रही है.परमबीर सिंह के काउंसिल मुकुल रोहतगी ने अदालत को बताया कि संजय पांडे ने उन्हे अपना पत्र वापस लेने की सलाह दी.हाई कोर्ट ने सरकार से जवाब तलब किया है और अगली सुनवाई 4 मई को होगी.

सचिन वाजे की पोस्टिंग मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के आदेश पर हुई थी : रिपोर्ट

मालूम हो कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर और मौजूदा समय में होमगार्ड डीजी परमबीर सिंह सहित 33 के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई. पुलिस निरीक्षक भीमराव घाड़गे की शिकायत पर अकोला के शहर कोतवाली पुलिस में यह मामला दर्ज किया है. FIR में  परमबीर सिंह और मुम्बई EOW के डीसीपी पराग मनेरे सहित 33 लोगों को आरोपी बनाया गया है. खास बात है कि सभी के खिलाफ  27 धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

शिकायतकर्ता पुलिस निरीक्षक भीमराव घाडगे ने आरोप लगाया है कि ठाणे पुलिस आयुक्त रहते हुए परमबीर सिंह ने आरोपियों को बचाने के लिए उन पर दबाव बनाया था. आदेश का पालन नहीं करने पर प्रताड़ित किया गया और उनके खिलाफ ही झूठा मामला बना दिया गया.पिछले महीने मुबंई पुलिस आयुक्त पद से परमबीर सिंह का तबादला होने के बाद उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की यह दूसरी शिकायत है.

इससे पूर्व मुंबई के पुलिस अधिकारी अनूप डांगे ने सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए शिकायत दी थी. घडगे ने 20 अप्रैल को पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर यह शिकायत की है. निरीक्षक ने इस शिकायत को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल के पास भेजा है.


गौरतलब है कि एंटीलिया प्रकरण के बाद परमबीर सिंह ने गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ वसूली का आरोप लगाया है. जिसके बाद सीबीआई ने प्राथमिक जांच कर  FIR दर्ज किया है. इस बीच राज्य सरकार ने राज्य के डीजीपी को भी परमबीर सिंह के खिलाफ एक अन्य मामले में भी जांच के आदेश दिए हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कोरोना: भारत की मदद के लिए खड़े हुए कई देश, ब्रिटेन ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की खेप भेजी