फिरोजाबाद में कौन सुनेगा फरियाद : 11 साल की बहन की मौत से विचलित लड़की कमिश्नर की गाड़ी के आगे लेट गई

बता दें कि सिर्फ यूपी ही नहीं बिहार में भी वायरल बुखार और निमोनिया फैल रहा है. बिहार में तीन सौ से ज्यादा बच्चे वायरल और निमोनिया से ग्रस्त हैं.  कुछ की हालत गंभीर है. सीएम नीतीश कुमार ने भी माना है कि हालात गंभीर हैं. सबको अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है. 

नई दिल्ली:

यूपी में डेंगू और बुखार से मरने वालों का आंकड़ा 100  के पार पहुंच गया है. अकेले फिरोजाबाद में 60 से ज्यादा मौतें हुई हैं. पिछले 48 घंटों में 16 लोगों ने जान गंवाई है. यहां निकिता कुशवाहा की 11 साल की बहन वैष्णवी कुशवाहा की सोमवार शाम को फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज में मौत हो गई. वैष्णवी पिछले 5 दिन से मेडिकल कॉलेज में भर्ती थी. शाम को आगरा के कमिश्नर दौरे पर आए थे, तभी वैष्णवी को मृत घोषित किया गया. वैष्णवी की बहन आगरा कमिश्नर की गाड़ी के आगे लेट गई. परिवार का आरोप है कि वैष्णवी को सही इलाज नहीं मिला.बता दें कि पश्चिमी यूपी  के अस्पतालों में डेंगू के कई मरीज हैं. अस्पताल प्रभारी संगीता अनेजा ने कहा कि मरीज की हालत गंभीर थी.हमने उसे बचाने की कोशिश की. खेद है हम उसे बचा नहीं पाए. मृतक परिवार दुख में है इसलिए ऐसा बोल रहा है. 

भारत में पिछले 24 घंटे में नए COVID-19 केसों में 6.8 फीसदी कमी


NDTV जब सोमवार को फिरोजाबाद रिपोर्ट करने पहुंचा तो हमारी टीम के सामने तीन बच्चों ने सरकारी अस्पताल में दम तोड़ दिया.  5 साल की सावन्या को परिवार वाले सुबह 8 बजे फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज लेकर आए. डॉक्टरों ने कह दिया जगह नहीं है. बच्ची तड़पती रही और परिवार गिड़गिड़ाता रहा और लगभग 11 बजे बच्ची ने एनडीटीवी की टीम के सामने दम तोड़ दिया. आनन फानन में अस्पताल प्रशासन बच्ची का शव ले जाने लगा. सच छुपाने की हड़बड़ाहट में कई बार बच्ची का शव स्ट्रेचर से गिरते-गिरते बचा. परिवार का आरोप है कि अगर सही इलाज मिलता तो बच्ची बच जाती. सावन्या के भाई विशाल ने बताया कि हम सुबह से इलाज करवाने के लिए दौड़ते रहे लेकिन, डॉक्टर बोला घर ले जाओ. किसी ने कुछ नहीं किया. मेरी बहन की मौत हो गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि सिर्फ यूपी ही नहीं बिहार में भी वायरल बुखार और निमोनिया फैल रहा है. बिहार में तीन सौ से ज्यादा बच्चे वायरल और निमोनिया से ग्रस्त हैं.  कुछ की हालत गंभीर है. सीएम नीतीश कुमार ने भी माना है कि हालात गंभीर हैं. सबको अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है.