Exclusive: उत्तराखंड के प्राकृतिक आपदा स्थल की पहले और बाद की सैटेलाइट तस्वीरें

उत्तराखंड में हुए हिमस्खलन की व्यापक प्राकृतिक आपदा से दो हाइडल पॉवर प्रोजेक्ट पूरी तरह नष्ट हो गए, 20 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक लापता हैं

Exclusive: उत्तराखंड के प्राकृतिक आपदा स्थल की पहले और बाद की सैटेलाइट तस्वीरें

उत्तराखंड में आई आपदा से 20 लोगों की जान चली गई और 200 से अधिक लापता हैं.

नई दिल्ली:

एनडीटीवी को प्लानेट लैब्स (Planet Labs) से मीडियम रिज़ोल्यूशन की सैटेलाइट इमेजरी (Satellite Imagery) मिली है. यह उत्तराखंड (Uttrakhand) के जोशीमठ (Joshimath) के पास रिज-लाइन की प्राकृतिक आपदा के पहले और बाद की तस्वीरें हैं. यह वह स्थान है जहां से बर्फ और मलबा ढहकर धौलीगंगा की संकरी तेज बहाव वाली नदी घाटी में गिरा था. यह नदी अलकनंदा नदी में जाकर मिलती है.

हाई रिज़ोल्यूशन की तस्वीरें देखने के लिए यहां करें-  क्लिक


इसमें से पहली तस्वीर 6 फरवरी की है जिसमें रिज लाइन साफ दिखाई दे रही है. जबकि दूसरी तस्वीर इसके दूसरे दिन 7 फरवरी की है जो कि आपदा के कुछ ही समय बाद ली गई है. इसमें बर्फ और रिज-लाइन का विशाल क्षेत्र दिखाई दे रहा है. बर्फ के नदी-घाटी में स्खलन के प्रभाव से बहा मलबा भी 7 फरवरी की छवि में स्पष्ट रूप से दिखाई देता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हिमस्खलन से मलबे के बहने की घटना के बाद एक '' ग्लेशियर फटने '' की रिपोर्ट आई थी. इस प्राकृतिक आपदा से थोड़ी ही दूर पर स्थित दो हाइडल पावर प्लांट नष्ट हो गए. इस प्राकृतिक घटना में 20 लोगों की जान चली गई और 200 से अधिक लोग अब तक लापता हैं.