दिल्ली में कोरोना के 101 नए मामले, चार महीने के निचले स्तर पर एक्टिव केस

Delhi Corona News : दिल्ली में कोरोना के नए मामलो में मामूली बढ़ोतरी देखने को मिली है. राजधानी में मंगलवार को 101 नए मामले मिले हैं. जबकि एक्टिव केस चार महीने के निचले स्तर पर हैं. 

दिल्ली में कोरोना के 101 नए मामले, चार महीने के निचले स्तर पर एक्टिव केस

Delhi Corona News : राजधानी में एक्टिव केस भी 1500 के करीब हैं

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना के नए मामलों (Delhi Corona Cases Today) में मामूली बढ़ोतरी देखने को मिली है. राजधानी में मंगलवार को 101 नए मामले मिले हैं. जबकि एक्टिव केस चार महीने के निचले स्तर पर हैं. पिछले 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत हुई है.  एक्टिव मामले 1 मार्च के बाद सबसे कम यानी 4 महीने के निचले स्तर पर हैं. 1 मार्च को 1404 एक्टिव कोरोना मामले थे. अब इनकी संख्या 1531 है. कोरोना रिकवरी रेट (Delhi Corona Recovery Rate) 98.15% हो गया है. एक्टिव मरीज़ 0.10% रह गए हैं. जबकि राजधानी में डेथ रेट 1.74% रह गया है. पॉजिटिविटी रेट 0.15% है.पिछले 24 घंटे में 101 नए मामलों के साथ अब तक कोरोना के कुल मामले 14,34,094 हो गए हैं. पिछले 24 घंटे में 119 मरीज ठीक हुए हैं. अब तक कुल स्वस्थ मरीजों की संख्या 14,07,592 हो गई है.

Delhi Unlock: दिल्ली में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू, आज से खुलेंगे बैंक्वेट हॉल और जिम

राजधानी में कोरोना के लगातार घटते केस के मद्देनज़र केजरीवाल सरकार ने निजी अस्पतालों, नर्सिंग होम में कोरोना बेड (Covid Bed) की संख्या घटा दी है.दिल्ली सरकार ने सरकारी अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर में कोविड बेड की तादाद कम करने का भी निर्देश भी जारी कर दिया है. सौ से ज्यादा बेड वाले अस्पताल/नर्सिंग होम को सिर्फ 30% तक ही बेड कोविड के इलाज के लिए रिज़र्व रखना होगा.

पुरुषों के मुकाबले कोरोना वैक्सीन लेने वाली महिलाओं की तादाद काफी कम, केंद्र चिंतित

पहले 80 फीसदी तक बेड कोरोना इलाज के लिए रिज़र्व रखे गए थे. ऐसे सभी प्राइवेट अस्पताल/ नर्सिंग होम (Delhi Private Hospital- Nursing Home) जिनकी क्षमता 100 बेड से कम है. उनको छूट होगी कि वो कोरोना इलाज के लिए बेड रिज़र्व कर भी सकते हैं और नहीं भी. जिन नर्सिंग होम को कोविड ट्रीटमेंट के लिए अस्थायी पंजीकरण मिला है उनको 100% बेड कोरोना के लिए रिजर्व रखने होंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली में एक तरफ कोविड केस लगातार कम हो रहे हैं. दूसरी ओर गैर कोविड मरीजों के इलाज में परेशानियां सामने आ रही है, क्योंकि अस्पतालों में बड़ी संख्या में बेड कोविड के लिए आरक्षित हैं.  दिल्ली सरकार ने स्पष्ट किया है कि अगर राजधानी में कोरोना के मामले बढ़ते हैं तो सभी प्राइवेट अस्पताल और नर्सिंग होम अपने बेड की संख्या तुरंत बढ़ाएंगे.