Covid-19: मध्य प्रदेश में और पांच शहरों में रविवार को रहेगा लॉकडाउन, अब तक 2,84,265 लोग संक्रमित

मध्यप्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 2,091 नए मामले आए हैं. इन्हें मिलाकर प्रदेश में अब तक 2,84,265 लोगों को यह महामारी अपनी चपेट में ले चुकी है.

Covid-19: मध्य प्रदेश में और पांच शहरों में रविवार को रहेगा लॉकडाउन, अब तक 2,84,265 लोग संक्रमित

प्रतीकात्मक तस्वीर.

भोपाल:

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus in MP) के बढ़ते मामलों को गंभीरता से लेते हुए सरकार ने राज्य के और पांच शहरों विदिशा, उज्जैन, ग्वालियर, नरसिंहपुर और सौंसर में रविवार को लॉकडाउन (Lockdown) लगाने का निर्णय लिया है.  मालूम हो कि इससे पहले प्रदेश सरकार इन्दौर, भोपाल, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, रतलाम और खरगोन में रविवार को लॉकडाउन लागू कर चुकी है. मध्यप्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 2,091 नए मामले आए हैं. इन्हें मिलाकर प्रदेश में अब तक 2,84,265 लोगों को यह महामारी अपनी चपेट में ले चुकी है. शुक्रवार को प्रदेश में नौ लोगों की मौत के साथ ही राज्य में संक्रमण से मरने वालों की संख्या 3,937 हो गयी है.

लॉकडाउन के दौरान औरंगाबाद ट्रेन हादसे में जान गंवाने वाले मजूदरों के परिजनों को अब भी डेथ सर्टिफिकेट का इंतजार

प्रदेश के जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि प्रदेश के और पांच शहरों में रविवार को लॉकडाउन लगाने का निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक में शुक्रवार को यहां लिया गया. अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में पिछले सप्ताह कोरोना वायरस संक्रमण की दर 6.3 प्रतिशत थी जो कि राष्ट्रीय औसत 4.6 प्रतिशत से अधिक है. मुख्यमंत्री ने बैठक में बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये सरकार ने तीन स्तरीय रणनीति बनाई है. इसमें संक्रमित लोगों की जांच करने, संक्रमित व्यक्ति का बेहतर उपचार सुनिश्चित करना और पूरे प्रदेश में जल्द से जल्द टीकाकरण करना शामिल हैं.

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने पर चिंता व्यक्त करते हुए लोगों से महामारी के खिलाफ सरकार के जागरुकता अभियान को सफल बनाने की बुधवार को अपील की थी. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के धर्मगुरुओं, राजनीतिक दलों, विभिन्न संगठनों और मीडिया कर्मियों को पत्र लिखकर कोरोना वायरस के खिलाफ जन-जागरूकता बढ़ाने के अभियान में सहयोग देना का आग्रह किया. उन्होंने कहा, ‘‘ मेरा मास्क-मेरी सुरक्षा' और ‘मेरी होली मेरे घर के अभियान' में सहयोग प्रदान करें.''

प्रदेश के जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा बैठक में कहा कि संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए यदि अन्य आवश्यक कदम उठाने होंगे, तो वे उठाए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ आर्थिक गतिविधियां संचालित होती रहेंगी, लेकिन संक्रमण को रोकना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है. जहां एक और उपचार और अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जा रहा है, वहीं नागरिकों के बीच यह संदेश पहुंचाया जा रहा है कि स्वयं के हित में, समाज के हित में, राज्य के हित में और देश के हित में मास्क का अवश्य उपयोग करें. अन्य सावधानियों का भी पालन करें.'' 

महाराष्ट्र, पंजाब में कोरोनोवायरस के मामलों में हालिया उछाल गंभीर चिंता का विषय : सरकार

प्रदेश में चल रहे टीकाकरण अभियान पर सारंग ने कहा कि लोगों को टीके की 26 लाख खुराकें दी जा चुकी हैं और एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों को टीका लगाने का अभियान शुरु होगा. उन्होंने लोगों से अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के लिये मास्क लगाने का आग्रह किया और अन्य लोगों को इस मुद्दे पर जागरुक करने की भी अपील की.

Video : Lockdown में मारे गए 16 मजदूरों के परिवार को एक साल बाद भी नहीं मिला डेथ सर्टिफिकेट


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)