मुंबई में कोरोना केस बढ़ने के बावजूद मास्‍क पहनने को लेकर लोग लापरवाह, पुलिस कर रही कार्रवाई..

गौरतलब है कि मुम्बई में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा, जो रोजाना 350 के करीब पहुंच गया था वो पिछले सप्ताहभर में बढ़कर रोजाना करीब 900 तक 'छलांग' लगा चुका है.

मुंबई में कोरोना केस बढ़ने के बावजूद मास्‍क पहनने को लेकर लोग लापरवाह, पुलिस कर रही कार्रवाई..

मुंबई में पिछले सप्‍ताहभर में कोरोना के केसों की संख्‍या बढ़कर रोजाना 900 के करीब पहुंच गई है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • केस बढ़ने के बावजूद मास्‍क पहनने से बच रहे लोग
  • मुंबई पुलिस को दिया गया जुर्माना वसूलने का अधिकार
  • एक हफ्ते से राज्‍य में आ रहे रोजाना 900 के करीब केस
मुंंबई:

Mumbai Covid-19 Cases Updates: मुंबई में कोरोना के बढ़ते मामलों (New corona cases In Mumbai) के बीच कोरोना को लेकर मुम्बई पुलिस एक्शन मोड में है.जगह-जगह मास्‍क नहीं पहने लोगों पर कार्रवाई की जा रही है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की चेतावनी के बाद भी बिना मास्क पहने घूमने वालों की कमी नहीं है. मुम्बई में कोरोना संक्रमण (Corona infection) के बढ़ते खतरे को देखते हुए अब मुम्बई पुलिस (Mumbai police) को भी बिना मॉस्क पहने लोगों से जुर्माना वसूलने का अधिकार दे दिया गया है, मुम्बई में फिर से लॉकडाउन न लगाना पड़े, इसके लिए लोगों को सख्ती से नियम कानून का पालन कराने के लिए अब मुम्बई पुलिस भी एक्शन में है और जगह-जगहं लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर चुकी है.

कोरोना वैक्सीन लेने से मना किया तो इलाज का पैसा नहीं मिलेगा, इस राज्य में नियम लागू

हैरानी की बात है कि लॉकडाउन किसी को नहीं चाहिए लेकिन मास्‍क पहनने में वे लापरवाही बरत रहे हैं. लोगों के इस लापरवाह रवैये के चलते ही अब मुम्बई पुलिस को भी बिना मॉस्क पहने लोगों पर कार्रवाई का अधिकार दिया गया है. मुंबई पुलिस के प्रवक्‍ता एस. चैत्यनय कहते हैं, 'ज्यादा भीड़भाड़ वाले इलाको में ध्यान दिया जाएगा. लोगों से आग्रह है कि भीड़भाड़ वाली जगह पर मास्क जरूर पहनें, वरना 200 रुपया जुर्माना वसूला जाएगा. डीसीपी जोन-11 के अनुसार, रविवार को एक दिन में हजार से ज्यादा लोगॉ पर कार्रवाई की गई है. 

अगले कुछ दिनों में कोरोना के मामले बढ़ते रहे तो फिर लॉकडाउन लगाना पड़ेगा : उद्धव ठाकरे

गौरतलब है कि मुम्बई में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा, जो रोजाना 350 के करीब पहुंच गया था वो पिछले सप्ताहभर में बढ़कर 900 तक छलांग लगा चुका है. यही वजह है कि एक बार फिर से शहर में लॉकडाउन की चर्चा ने जोर पकड़ लिया है. फिर से लॉकडाउन न लगाना पड़े इसलिए एक तरफ जहां राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रमों पर पाबंदी लगा दी गई है, वहीं वहीं विवाह और बर्थडे पार्टी समारोह में एक साथ 50 से ज्यादा की भीड़ पर पाबंदी लगा दी गई है. यही नहीं, इन नियमों का उल्‍लंघन करने वालो पर कार्रवाई भी शुरू हो गई है.


अफवाह बनाम हकीकत : प्राइवेट सेक्टर के आने से टीकाकरण अभियान को मिलेगी रफ्तार? जानिए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com