कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतें बढ़ने का सभी पर होगा असर, महंगा हो जाएगा ढाबे और होटल का खाना

कमर्शियल कामों के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले एलपीजी सिलेंडरों के दाम में बुधवार को 100 रुपए का इजाफा हुआ. बढ़ोतरी होने पर होटल व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि इससे इससे ढाबे, होटल और बेकरी से लेकर तैयार खाने के दामों में करीब दो फीसदी का इजाफा हो सकता है.

कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतें बढ़ने का सभी पर होगा असर, महंगा हो जाएगा ढाबे और होटल का खाना

साल भर अंदर कमर्शियल सिलेंडर के दाम 1300 रुपए से बढ़कर 2100 रुपए हो चुका है

नई दिल्ली:

राजधानी दिल्ली (Delhi) में बुधवार को लोगों को झटका देते हुए व्यवसायिक (LPG) कुकिंग गैस सिलेंडर सौ रुपए महंगा कर दिया गया जिससे लोगों की जेब पर बोझ और बढ़ गया है. कमर्शियल कामों के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले एलपीजी सिलेंडरों के दाम में बुधवार को 100 रुपए का इजाफा कर दिया गया. इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में अब 19 किलो के एलपीजी सिलेंडर का दाम 2000.50 से बढ़कर 2100.50 रुपये हो गया है. हालांकि, घरेलू इस्तेमाल वाले सिलेंडरों की कीमत में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी है. पिछले साल दिसंबर से लेकर अब तक कमर्शियल सिलेंडर (Commercial cylinder) के दाम 1300 रुपए से बढ़कर 2100 पहुंच चुके हैं.

महीने के पहले दिन महंगाई की मार, अब इतने में मिलेगा एक कॉमर्शियल सिलिंडर

बढ़ोतरी होने पर होटल व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि इससे इससे ढाबे, होटल और बेकरी से लेकर तैयार खाने के दामों में करीब दो फीसदी का इजाफा हो सकता है. इसका असर आम लोगों को ही झेलना पड़ेगा. सिलेंडर के दामों में हुए इजाफे से परेशान "कुकु द ढाबा" चला रहे अनवर का कहना है कि "पहले लॉकडाउन और अब महंगाई की मार से  हम परेशान हैं...छह महीने पहले ही ढाबा नए सिरे से चलाना शुरू किया है....लेकिन सब्जियों और तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद अब कमर्शियल सिलेंडर के दामों में इतना बड़ा उछाल होने से उनका मुनाफा बेहद कम हो गया है. अनवर का कहना है - "पहले हम कोविड से परेशान थे. एक दो महीने से हम किसी तरह ढाबा पूरी तरह से चला पा रहे हैं. लेकिन अब सिलेंडर के दाम बढ़ जाने से हम बिल्कुल मार्जिन पर चल रहे हैं. क्या करें".

अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले साल दिसंबर से लेकर कमर्शियल सिलेंडर के दाम कई बार बढ़ चुके हैं. देखा जाए तो 19 KG का सिलेंडर अक्टूबर 2020 में जहां 1250 रुपए का था, वहीं अब सालभर बाद ये बढ़कर 2093 रुपए का हो चुका है. बीते चार महीनों में कमर्शियल सिलेंडर की कीमतों में अकेले सितंबर में 75 रुपए की बढ़ोतरी हुई जबकि अक्टूबर में 33 रुपए और नवंबर में 163 रुपए के बाद अब दिसंबर में 103 रुपए की बढ़ोत्तरी हुई है.

वहीं दूसरी तरफ, गैस सिलेंडर डीलर एसोसिएशन का मानना है कि कमर्शियल सिलेंडर के दाम बढ़ने से इसकी खपत में भी कमी देखने को मिल रही है. उत्तर प्रदेश के अखिल भारतीय एलपीजी वितरक संघ (AILDF UP) के राज्य संयोजक, सुजीत सिंह के अनुसार "कमर्शियल सिलेंडर के दाम साल भर में 1300 रुपए से बढ़कर 2100 रुपए हो चुके हैं. इसका असर उन सब पर पड़ेगा जो सिलेंडर उपयोग करते हैं और उस पर भी जो उपयोग नहीं करते. इसका कारण यह है कि इस सिलेंडर का उपयोग ज्यादातर बड़े शहरों के होटलों में होता है. वहां गरीब मजदूर खाना खाएंगे तो उनको खाना महंगा पड़ेगा''.

ऐसा नहीं के इस इजाफे का असर सिर्फ छोटे ढाबों, होटल पर ही दिखेगा, आम आदमी की जेब पर भी इसका खासा असर पड़ने वाला है. बता दें कि इससे पहले साल 2012 कमर्शियल सिलेंडर के दाम में 2200 रुपए तक जा पहुंचे थे और अब  उसके बाद सिलेंडर इतना मंहगा हुआ है.

LPG Price Hike: 2,000 रुपये में मिलेगा कॉमर्शियल LPG सिलेंडर; आपकी रसोई पर क्या पड़ा असर, देखें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिवाली से पहले कारोबारियों को झटका, कॉमर्शियल सिलिंडर हुआ 265 रुपये महंगा