'गुजरात दंगे किस सरकार के दौरान हुए' : प्रश्‍नपत्र में पूछे गए सवाल पर CBSE ने खेद जताया

12th के समाशास्‍त्र की Term 1 के पेपर के इस प्रश्‍न में पूछा गया था, 'गुजरात में 2002 में मुस्लिम विरोधी हिंसा किस सरकार के तहत फैली थी.'

'गुजरात दंगे किस सरकार के दौरान हुए' : प्रश्‍नपत्र में पूछे गए सवाल पर CBSE ने खेद जताया

12th के समाशास्‍त्र की Term 1 की परीक्षा के दौरान 'आपत्तिजनक' प्रश्‍न पूछा गया

नई दिल्‍ली :

बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करने वाले देश के शीर्ष शिक्षा निकाय ने कक्षा 12वीं के पेपर का एक प्रश्‍न 'अनुचित' पाए जाने के बाद कार्रवाई का वादा किया है. दरअसल, 2002 के गुजरात दंगों को लेकर प्रश्‍न में पूछा गया था कि राज्‍य में जब हत्‍याएं हुईं तब कौन सी पार्टी सत्‍ता में थी. 12th के समाशास्‍त्र की Term 1 के पेपर के इस प्रश्‍न में पूछा गया था, 'गुजरात में 2002 में मुस्लिम विरोधी हिंसा किस सरकार के तहत फैली थी.' प्रश्‍न के चार विकल्‍प इस प्रकार थे: कांग्रेस, बीजेपी, डेमोक्रेटिक, रिपब्लिकन. सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE)ने ट्वीट किया कि उसने अपनी गलती स्‍वीकार कर ली है.

CBSE की ओर से कहा गया है , 'कक्षा 12 के आज के सोशलॉजी ( समाशास्‍त्र) के टर्म 1 की परीक्षा में एक प्रश्‍न पूछा गया है जो अनुचित है और सीबीएसई की गाइडलाइंस के खिलाफ है. सीबीएसई गलती को स्‍वीकार करता है और जिम्‍मेदार लोगों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी. '

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि वर्ष 2002 में गुजरात के गोधरा में साबरमती एक्‍सप्रेस के कोच में आग लगाए जाने के बाद भड़के दंगों में एक हजारसे अधिक लोग मारे गए थे. ट्रेन हिंदू श्रद्धालुओं को लेकर जा रही थी, इस घटना में 59 लोगों की मौत हो गई थी. फरवरी 2012 में दी गई क्‍लोजर रिपोर्ट में स्‍पेशल इनवेस्‍टीगेशन टीम यानी SIT ने नरेंद्र मोदी सहित 63 अन्‍य लोगों को मुकदमा चलाने योग्‍य सबूत न मिलने का हवाला देते हुए बरी कर दिया था. नरेंद्र मोदी वर्ष 2002 में गुजरात के सीएम थे.