दिल्ली दंगों में जान गंवाने वाले आईबी अधिकारी के परिवार के लिये भाजपा ने कुछ नहीं किया : आप

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि भाजपा शर्मा समेत दिल्ली दंगों में जान गंवाने वाले सभी लोगों के परिवारों के साथ उस वक्त से खड़ी है जब दंगों के तत्काल बाद उन्हें मदद की जरूरत थी.

दिल्ली दंगों में जान गंवाने वाले आईबी अधिकारी के परिवार के लिये भाजपा ने कुछ नहीं किया : आप

दिल्ली में बीते साल संशोधित नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प होने के बाद दंगे भड़क गए थे

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी (आप) ने शनिवार को दावा किया कि भाजपा ने पिछले साल यहां दंगों के दौरान जान गंवाने वाले खुफिया ब्यूरो के अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार से बड़े-बड़े वादे किये थे, लेकिन किया कुछ नहीं. दिल्ली सरकार द्वारा शर्मा के भाई को नौकरी दिये जाने की घोषणा के एक दिन बाद पार्टी ने यह बात कही. दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि भाजपा शर्मा समेत दिल्ली दंगों में जान गंवाने वाले सभी लोगों के परिवारों के साथ उस वक्त से खड़ी है जब दंगों के तत्काल बाद उन्हें मदद की जरूरत थी. दिल्ली मंत्रिमंडल ने शुक्रवार को अंकित शर्मा के भाई को नौकरी दिए जाने के संबंध में एक प्रस्ताव पारित किया था. इस प्रस्ताव को अंतिम मंजूरी के लिये उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेजा जाएगा. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में बीते साल संशोधित नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प होने के बाद 24 फरवरी को दंगे भड़क गए थे, जिसमें कम से कम 53 लोगों की मौत हुई थी और लगभग 200 लोग घायल हो गए थे.

दिल्ली दंगा: जान गंवाने वाले अंकित शर्मा के भाई को AAP सरकार ने दी नौकरी, BJP पर साधा निशाना

शर्मा का शव दंगा प्रभावित चांद बाग इलाके में उनके घर के निकट एक नाले से मिला था. आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार ने अंकित के परिवार को न केवल एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया, बल्कि उनके भाई को नौकरी देने की भी पेशकश की. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पिछले साल दो मार्च को शर्मा के परिवार को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की थी. भारद्वाज ने आरोप लगाया, “जब भी कोई हत्या होती है तो भाजपा उसे सांप्रदायिक रंग देकर लोगों के बीच नफरत फैलाने लगती है. लेकिन किसी की मदद के लिये कुछ नहीं करती. आम आदमी पार्टी जानना चाहती है कि भाजपा और केन्द्र सरकार ने दिवंगत अंकित शर्मा और उनके परिवार के लिये पिछले एक साल में क्या किया है.”

ऐसे रची गई थी 2020 में दिल्ली दंगों की साजिश, दिल्ली पुलिस ने एनिमेशन के जरिए बताया

उन्होंने कहा कि भाजपा ने शर्मा के परिवार से वादे तो बड़े-बड़े किये, लेकिन किया कुछ नहीं. प्रवक्ता ने कहा कि आप भाजपा से मांग करती है कि वह बताए कि उसने परिवार के लिये क्या किया? उन्होंने यह भी कहा कि, “अरविंद केजरीवाल सरकार ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के दौरान भारी नुकसान उठाने वाले 2,221 लोगों को मुआवजे के रूप में 26 करोड़ रुपये प्रदान किये हैं.” इसके जवाब में दिल्ली भाजपा ने कहा कि वह शर्मा के परिवार के साथ खड़ी रही है. कपूर ने एक बयान में कहा, “एक राजनीतिक दल होने के नाते हम अंकित शर्मा के परिवार समेत सभी शोकाकुल परिवारों को भावनात्मक सहयोग प्रदान करते हैं जबकि आम आदमी पार्टी शर्मा के हत्यारे अपने पार्षद ताहिर हुसैन के साथ खड़ी है.” उन्होंने कहा, “केजरीवाल सरकार ने अंकित शर्मा के परिवार को मुआवजा देकर कोई खास काम नहीं किया है. कानून के अनुसार दंगा पीड़ित परिवारों को मुआवजा प्रदान करना राज्य सरकार का अनिवार्य दायित्व है. और उन्होंने यही किया है.”

Video: 1 साल बाद भी भरे नहीं हैं दिल्ली दंगों के जख्म

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)