बिहार: शराबी को गिरफ्तार करने नशे में धुत होकर पहुंचा ASI, लोगों ने किया विरोध तो पहुंच गया जेल 

सोमवार की शाम कटेया नगर के पकहा मोड़ स्थित एक दवा दुकान पर शराब के नशे में धुत एक युवक दवा खरीदने के लिए गया हुआ था. इसी बीच दवा दुकानदार एवं उक्त युवक के बीच किसी बात को लेकर बहस होने लगी.

बिहार: शराबी को गिरफ्तार करने नशे में धुत होकर पहुंचा ASI, लोगों ने किया विरोध तो पहुंच गया जेल 

पुलिस अधीक्षक ने हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार को मामले की जांच करने का आदेश दिया

पटना:

बिहार में गोपालगंज के कटेया थाना के पकहा मोड़ पर सोमवार की शाम शराबी युवक को गिरफ्तार करने पहुंचे कटेया थाने के एएसआई चंद्रमा राम का लोगों ने शराब के नशे में धुत होने का आरोप लगाते हुए जमकर विरोध किया. मामले ने इतना तूल पकड़ा कि लोग थाना परिसर में घुस कर घंटों हंगामा करते रहे. नगर पंचायत क्षेत्र की दुकानों को बंद कर व्यवसायी भी इस हंगामे में शामिल हो गए. इसके बाद पुलिस अधीक्षक आनन्द कुमार ने हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार को मामले की जांच करने का आदेश दिया. मौके पर पहुंचे एसडीपीओ ने नशे में धुत रहे एएसआई चंद्रमा राम के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार करने का आदेश दिया, जिसके बाद एएसआई को गिरफ्तार कर जेल भेजा दिया गया.

VIDEO: बिहार के CM नीतीश ने अपनी उप मुख्यमंत्री के बारे में ऐसा क्या बोला कि 'टीम' को हटाना पड़ा वह अंश..

बताया जाता है कि सोमवार की शाम कटेया नगर के पकहा मोड़ स्थित एक दवा दुकान पर शराब के नशे में धुत एक युवक दवा खरीदने के लिए गया हुआ था. इसी बीच दवा दुकानदार एवं उक्त युवक के बीच किसी बात को लेकर बहस होने लगी. जिसके बाद दवा दुकानदार ने नगर पार्षद संतोष प्रसाद को फोन कर बुला लिया. संतोष प्रसाद मौके पर पहुंचे तो शराबी युवक को समझा-बुझाकर वहां से हटाने लगे. अभी यह चल ही रहा था कि कटेया थाने में पदस्थापित सहायक अवर निरीक्षक (एएसआई) चंद्रमा राम उसी रास्ते से लौट रहे थे. भीड़ देखकर वे गाड़ी से उतरे और शराबी युवक को पकड़ने लगे. लोगों ने जब उनकी हालत देखी तो वो पुलिस पदाधिकारी पर शराब के नशे में धुत होने का आरोप लगाने लगे. 

बिहार : संदिग्ध टिफिन बम से 7 साल के मासूम की मौत, एक हफ्ते में दूसरी वारदात

लोग कहने लगे कि जिसने खुद शराब का सेवन किया है वह दूसरे को क्या गिरफ्तार करेगा. इसी को लेकर पुलिस और लोगों में बहस होने लगी जिसके बाद सहायक अवर निरीक्षक वहां से सीधे थाना पहुंचे और इसकी सूचना कटेया थाना अध्यक्ष सुमन कुमार मिश्र को दी. थानाध्यक्ष सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे तो लोगों ने उनका भी जमकर विरोध किया. पुलिस पदाधिकारी और लोगों के बीच नोकझोंक होने की भी बात कही जा रही है. इसके बाद नगर पार्षद के नेतृत्व में लोग गोलबंद होने लगे. जब इसकी सूचना कटेया पुलिस को लगी तो थानाध्यक्ष सुमन कुमार मिश्र ने सोमवार की देर रात नगर पार्षद संतोष कुमार सहित चार लोगों को हिरासत में ले लिया. 

इसके विरोध में लोगों ने मंगलवार को लगभग पांच घंटों तक शहर की सभी दुकानें बंद कर जमकर प्रदर्शन किया. जनप्रतिनिधियों के प्रयास से दोनों पक्षों से वार्ता कर मामला शांत कराया गया तथा नगर पार्षद संतोष कुमार सहित सभी लोगों को पुलिस द्वारा छोड़ा गया और आरोपी एएसआई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बिहार के विशेष राज्य के दर्जे पर नीतीश बनाम डिप्टी CM, मुख्यमंत्री बोले- 'उन्हें समझ नहीं'