बिहार: कटिहार में 'कोमा' में वेंटिलेटर की व्‍यवस्‍था, उपलब्‍ध होने के बाद भी लोगों को नहीं मिल रहा लाभ

कोरोना काल के वेंटिलेटर सेवा की सबसे ज्‍यादा जरूरत महसूस की जा रही है है लेकिन कटिहार में उपलब्ध होने के बावजूद कोरोना त्रासदी के दौर में भी लोगों को इस सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है.

बिहार: कटिहार में 'कोमा' में वेंटिलेटर की व्‍यवस्‍था, उपलब्‍ध होने के बाद भी लोगों को नहीं मिल रहा लाभ

जिलाधिकारी ने कहा, जल्‍द से जल्‍द वेंटिलेटर की व्‍यवस्‍था शुरू कराई जाएगी

खास बातें

  • स्वास्थ्य विभाग के पास छह वेंटिलेटर हैं उपलब्ध
  • लेकिन लोगों को इसका नहीं मिल पा रहा लाभ
  • सुविधा नहीं मिल पाने से कुछ लोगों की जा चुकी है जान
पटना :

बिहार के कटिहार शहर में वेंटिलेटर की व्यवस्था 'कोमा' में है.कोरोना काल के वेंटिलेटर सेवा की सबसे ज्‍यादा जरूरत महसूस की जा रही है है लेकिन कटिहार में उपलब्ध होने के बावजूद कोरोना त्रासदी के दौर में भी लोगों को इस सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है. दरअसल, कटिहार स्वास्थ्य विभाग के पास कुल छह वेंटिलेटर उपलब्ध हैं लेकिन गहन चिकित्सा केंद्र के भीतर यह जरूरी वेंटिलेटर सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाने से लोग भी नाराजगी जता रहे है. लोगों के मानें तो वेंटिलेटर सुविधा नहीं मिल पाने से अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है मगर स्वास्थ्य विभाग इस जरूरी सेवा को लेकर गंभीर नहीं है. कटिहार जिला चैंबर ऑफ कॉमर्स का अध्यक्ष ने राज्‍य के मुख्यमंत्री, उप मुख्‍यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री और कटिहार जिला के विधायक से जल्द इस पर ठोस पहल की मांग की है.

बिहार में कोरोना वायरस से 51 और मरीजों की मौत, 10455 नए मामले, जानें कहां कितने मरीज?


जिलाधिकारी ने भी इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि कटिहार में भी वेंटिलेटर की व्यवस्था है और एक्सपर्ट कर्मियों की कमी से शायद किसी मामूली फॉल्ट से यह व्यवस्था संचालित नहीं हो पा रहा है. उन्‍होंने कहा कि राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग से भी इस बारे में बातचीत की गई है और जल्द इस व्यवस्था को शुरू करवाई जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्यों को महंगी पड़ेगी कोविशील्ड, हर डोज के लिए देने होंगे 400 रुपये