कोरोना वायरस के लक्षणों वाले मरीज को बिना सेम्पल लिए निगेटिव घोषित कर दिया!

Coronavirus: बिहार के कटिहार में तीन दिनों से कोविड-19 की जांच के लिए भटक रहा मरीज, अपने और परिवार के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित

कोरोना वायरस के लक्षणों वाले मरीज को बिना सेम्पल लिए निगेटिव घोषित कर दिया!

कटिहार में मरीज का सैम्पल लिए बिना उसको कोरोना निगेटिव होने की सूचना एसएमएस से दे दी गई.

पटना:

Bihar Coronavirus: कोरोना वायरस जांच के नाम पर कटिहार (Katihar) में अजीब मामला सामने आया है. यहां तीन दिनों से कोविड-19 (Covid-19) की जांच के लिए भटक रहे मरीज को बिना जांच किए, यहां तक कि बिना सेम्पल लिए ही निगेटिव रिजल्ट दे दिया गया. दूसरी तरफ कोरोना वायरस के लक्षणों वाला मरीज अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य को लेकर भारी चिंता में है.

पीड़ित रमेश प्रसाद की मानें तो पिछले कई दिनों से उनकी तबियत खराब है. कोरोना के लक्षणों के कारण वे घर वालों की सलाह पर तीन दिनों से कोरोना की जांच के लिए अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं. इस दौरान उनसे नाम और मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन के लिए लिखवाने के लिए कहा गया और बताया गया कि सोमवार को उनकी जांच होगी. लेकिन अब जांच से पहले ही उनके मोबाइल पर कोरोना रिजल्ट नेगेटिव होने का मैसेज भेज दिया गया है. 


अपने आप में इस अजीब मामले के बाद लोग कोविड जांच से जुड़े पूरे सिस्टम पर सवाल उठा रहे हैं. जबकि पीड़ित रमेश प्रसाद भी काफी परेशान हैं. अब स्वास्थ महकमे ने इस पर चुप्पी साध ली है.

7557jkog

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि कटिहार (Katihar) के सदर अस्पताल में हाल ही में डॉक्टरों की लापरवाही से एक मरीज की जान चली गई. उसके परिजनों ने यह आरोप लगाया था. ऑक्सीजन नहीं मिलने से मरीज की तड़प तड़प कर मौत हो गई थी. परिजनों ने कहा था कि पेट दर्द और खांसी की शिकायत पर बुजुर्ग हरिप्रसाद को चालीसा हटिया मोहल्ले से सदर अस्पताल लाया गया था. कई घंटे बीत जाने के बावजूद डॉक्टर ने उनका इलाज नहीं किया. इस दौरान परिजनों ने कई बार ऑक्सीजन लगाने की गुहार लगाई मगर सुनवाई नहीं हुई. मरीज की मौत होने पर आक्रोशित परिजनों ने सदर अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया था.