अयोध्या : 'शरीफ चाचा' को भी मिला भूमि पूजन में आने का निमंत्रण

पिछले करीब 27 बरस से लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर मानवता की सेवा करने वाले अयोध्या के मकबूल बाशिंदे पद्मश्री मोहम्मद शरीफ उर्फ शरीफ चाचा को भी बुधवार को होने वाले राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम में शिरकत का न्योता मिला है.

अयोध्या : 'शरीफ चाचा' को भी मिला भूमि पूजन में आने का निमंत्रण

मोहम्मद शरीफ को पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है.

खास बातें

  • 25000 लावारिश शवों का अंतिम संस्कार कर चुके हैं मोहम्मद शरीफ
  • पद्मश्री से सम्मानित हो चुके हैं सम्मानित
  • सेहत के चलते जाना अभी तय नहीं
नई दिल्ली :

पिछले करीब 27 बरस से लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर मानवता की सेवा करने वाले अयोध्या के मकबूल बाशिंदे पद्मश्री मोहम्मद शरीफ उर्फ शरीफ चाचा को भी बुधवार को होने वाले राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम में शिरकत का न्योता मिला है.  शरीफ के बेटे मोहम्मद सगीर ने मंगलवार को 'भाषा' को बताया कि करीब 82 वर्षीय उनके पिता को श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से भेजा गया निमंत्रण मंगलवार को दोपहर में मिला है. हालांकि उन्होंने यह कहा कि उनके पिता को पिछले कुछ समय से गुर्दों की बीमारी के कारण काफी परेशानी हो रही है और वह ठीक से चल भी नहीं पा रहे, लिहाजा वह कार्यक्रम में शरीक हो पाएंगे, इसमें संदेह है. 


सगीर ने बताया कि शरीफ चाचा का अल्ट्रासाउंड कराया जा रहा है और उनकी हालत देखने के बाद तय किया जाएगा कि वह कार्यक्रम में शामिल हो पाएंगे या नहीं.  पेशे से बाइसाइकिल मैकेनिक मोहम्मद शरीफ पिछले करीब 27 साल से जिले में लावारिस शवों का अंतिम संस्कार करते हैं.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सगीर के मुताबिक उनके पिता हिंदू, मुस्लिम समेत सभी धर्मों से जुड़े लोगों के लावारिस शवों का उनकी आस्था के मुताबिक अंतिम संस्कार करते हैं. अब तक वह करीब 25,000 लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर चुके हैं.0 मानवता की इस महान सेवा के लिए मोहम्मद शरीफ को इस साल जनवरी में देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री से विभूषित किया गया था. 
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)