बिहार में चक्रवाती तूफान ‘यास’ के कारण वायु, रेल यातायात प्रभावित

चक्रवात की वजह से पटना शहर में भारी बारिश के कारण शाम को यहां के हवाई अड्डे पर उड़ानों का परिचालन बंद कर दिया गया. एयरपोर्ट के निदेशक भूपेश नेगी ने बताया कि हवाई यातायात के निलंबन के कारण चार उड़ानें रद्द कर दी गई.

बिहार में चक्रवाती तूफान ‘यास’ के कारण वायु, रेल यातायात प्रभावित

बिहार में चक्रवात ‘यास’ के प्रभाव के कारण हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो रही है. (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार में चक्रवात ‘यास' के प्रभाव के कारण बृहस्पतिवार को उड़ानें और रेल यातायात के प्रभावित होने के साथ प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हुई. चक्रवात की वजह से पटना शहर में भारी बारिश के कारण शाम को यहां के हवाई अड्डे पर उड़ानों का परिचालन बंद कर दिया गया. एयरपोर्ट के निदेशक भूपेश नेगी ने बताया कि हवाई यातायात के निलंबन के कारण चार उड़ानें रद्द कर दी गई. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि चक्रवात ‘यास' के कारण मौसम की स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि पटना एयरपोर्ट से उड़ान परिचालन शुक्रवार 28 मई को सुबह नौ बजे तक निलंबित रहेगा. परिचालन को फिर से शुरू करने पर निर्णय लेने से पहले स्थिति की समीक्षा की जाएगी.

दक्षिण पश्चिम मॉनसून बंगाल की खाड़ी के और हिस्सों की ओर बढ़ा, 31 मई तक केरल पहुंचने की संभावना

पूर्व मध्य रेल (ईसीआर) ने चक्रवात ‘यास' के मद्देनजर सुरक्षात्मक कदम उठाते हुए कुछ स्पेशल ट्रेनों का परिचालन अस्थायी तौर पर रद्द कर दिया है. ईसीआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि ऐसी कुल 15 ट्रेनों का परिचालन रद्द किया गया है. मौसम विज्ञान केंद्र, पटना के निदेशक आनंद शंकर ने बताया कि अति गंभीर चक्रवात ‘यास' ओडिशा-पश्चिम बंगाल तट से 26 मई को पार करने के बाद कमजोर हो गया है. वर्तमान में यह एक कम दबाव के क्षेत्र के रूप में झारखंड और बिहार के ऊपर स्थित है. इसके और कमजोर पड़ने और उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढने का अनुमान है. शुक्रवार को यह बिहार और उससे सटे पूर्वी उत्तर प्रदेश पर कम दबाव के क्षेत्र के रूप मे बदल जाएगा.

चक्रवाती तूफान यास का असर, बिहार और झारखंड में तेज हवाएं और बारिश, 10 बातें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि इस कम दबाव के मौसमी प्रभाव के कारण राज्य में अगले 48 घंटे के दौरान हल्की से मध्यम स्तर की बारिश होने की संभावना है. जबकि, एक दो स्थानों पर भारी बारिश का पूर्वानुमान है. इस दौरान हवा की अधिकिम गति 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की होगी. इसके साथ ही राज्य के दक्षिण तथा पूर्वी हिस्सों में अगले 24 घंटे और राज्य के मध्य हिस्से में कुछ जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने की आशंका भी है. शंकर ने कहा कि बारिश के कारण निचले क्षेत्र में जल जमाव या बाढ़ जैसी स्थिति बन सकती है. इसलिए राज्य के नागरिकों को उचित सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)