विज्ञापन
Story ProgressBack

Mental Health: रुकता ही नहीं दिमाग, Intrusive Thoughts से रहते हैं परेशान, जानिए ये मानसिक बेचैनी और अशांति क्यों है

कभी कभी कोई विचार या इमेज मन में अटक जाती है. हम इसे अपने मन से झटक देना चाहते हैं लेकिन न चाहते हुए भी वह बार बार वापस आ जाते है. इस तरह के विचारों को इंट्रुसिव थॉट्स यानी दखल देने वाले विचार कहा जाता है.

Read Time: 3 mins
Mental Health: रुकता ही नहीं दिमाग, Intrusive Thoughts से रहते हैं परेशान, जानिए ये मानसिक बेचैनी और अशांति क्यों है

कभी कभी कोई विचार या इमेज मन में अटक जाती है. हम इसे अपने मन से झटक देना चाहते हैं लेकिन न चाहते हुए भी वह बार बार वापस आ जाते है. इस तरह के विचारों को इंट्रुसिव थॉट्स यानी दखल देने वाले विचार (Intrusive Thoughts) कहा जाता है. ऐसे विचार लगभग हर किसी को समय-समय पर आते रहते हैं. इनमें बेतरतीब छवियों से लेकर परेशान करने वाले और हिंसक विचार जैसे किसी के चेहरे पर मुक्का मारना या खुद को चोट पहुंचाने जैसे विचार शामिल हो सकते हैं. काफी हद तक इनसे कोई हानि नहीं होती है लेकिन हद से ज्यादा बढ़ने पर इनका आपकी रोजमर्रा के जीवन पर असर पड़ सकता है.

ये मेंटल हेल्थ (Mental Health) से जुड़ी समस्या का संकेत हो सकता है. यह एंग्जायटी, डिप्रेशन या ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर ( OCD) के लक्षण हो सकते हैं. आइए जानते हैं इंट्रुसिव थॉट्स यानी दखल देने वाले विचार के प्रकार और इसे जुड़ी मेंटल हेल्थ की समस्याएं.

दखल देने वाले विचारों के प्रकार (Types of Intrusive Thoughts)

सेक्सुअल विचार : कभी कभी सेक्सुअल विचार आना सामान्य है. लेकिन आप ऐसे विचारों से असहज महसूस करते हैं या चौंक जाते हैं, तो आप उन पर ध्यान देने की जरूरत होती है. विशेषज्ञों का कहना है कि अपने आप को यह याद दिलाना सबसे अच्छा है कि ये केवल विचार हैं.

हिंसक विचार : कभी कभी खुद को या किसी अन्य को चोट पहुंचाने जैसे हिंसक विचार मन में आते हैं. ये केवल विचार होते हैं और गुजर जाते हैं. लेकिन अगर आप अपने आप को अपने आक्रामक विचारों पर अमल करने की योजना बनाते हुए पाते हैं, तो आपको अपनी भावनाओं को मैनेज करने के लिए पेशेवर मदद की जरूरत है.

नकारात्मक विचार : कभी-कभी जब चीजें योजना के अनुसार काम नहीं करती हैं, तो आप खुद को हारा हुआ महसूस कर सकते हैं. स्थिति बदलने पर ये विचार ख़त्म हो जाने चाहिए. लेकिन अगर ऐसे विचार मन में घर करने लगे तो डिप्रेशन का कारण बन सकते है.

संभावित मानसिक परेशानियां (Possible Mental Health Disorders to Watch For)

कभी-कभी ये अनचाहे विचार हद से ज्यादा होकर OCD का रूप लेने लगते हैं. इस प्रकार के चिंता विकार के साथ, आपके मन में बार-बार अनचाहे विचार आते हैं जिन्हें आप नियंत्रित नहीं कर पाते हैं. आपको कुछ कार्यों को बार-बार दोहराने की इच्छा भी हो सकती है. इसमें यह समझना कि कोई आप पर नजर रख रहा है. कोई आपको चोट पहुंचाना चाहता है. सिज़ोफ्रेनिया या बाइपोलर डिसऑर्डर का संकेत हो सकता है. ऐसे समय में डॉक्टर से सलाह लेने की जरुरत होती है.

Vaginal Health: वजाइनल हेल्‍थ से जुड़ी वो बातें, जो हर महिला को पता होनी चाहिए...

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
त्रिकोणासन करने से मसल्स मजबूत, पाचन और ब्लड सर्कुलेशन में सुधार, यहां पढ़ें ट्राएंगल योग करने का तरीका और फायदे
Mental Health: रुकता ही नहीं दिमाग, Intrusive Thoughts से रहते हैं परेशान, जानिए ये मानसिक बेचैनी और अशांति क्यों है
Explained: क्या जानलेवा होती है हीटवेव? भीषण गर्मी में कब बढ़ जाता है जान का खतरा, जानिए क्या करें और क्या न करें
Next Article
Explained: क्या जानलेवा होती है हीटवेव? भीषण गर्मी में कब बढ़ जाता है जान का खतरा, जानिए क्या करें और क्या न करें
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;