Vitamins: कितनी तरह के होते हैं विटामिन, क्या रोल होता है और इनके फूड स्रोत

शरीर में इनकी कमी हो जाए तो कई तरह की बीमारियां घेर सकती हैं. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए 13 तरह के विटामिन की जरूरत होती है. इन 13 तरह के विटामिन को दो श्रेणियों में बांटा गया है.

Vitamins: कितनी तरह के होते हैं विटामिन, क्या रोल होता है और इनके फूड स्रोत

Types of Vitamins and Their Functions: विटामिन भोजन में पाए जाने वाले वे तत्व हैं जो शरीर को सही ढंग से चलाने के लिए बहुत जरूरी हैं. शरीर को रोगों से बचाने के लिए विटामिन बेहद अहम भूमिका अदा करते हैं. शरीर में इनकी कमी हो जाए तो कई तरह की बीमारियां घेर सकती हैं. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए 13 तरह के विटामिन की जरूरत होती है. इन 13 तरह के विटामिन को दो श्रेणियों में बांटा गया है.

1- शरीर में पानी में घुलने वाले विटामिन .
2- शरीर में वसा में घुलने वाले विटामिन.

कुल 13 प्रकार के विटामिन्स में से 9 पानी में घुलने वाले हैं और 4 वसा में घुलने वाले.

विटामिन A

विटामिन A की कमी से रतौंधी रोग होने की संभावना बढ़ जाती है. आमतौर पर अपने खान पान में डेयरी प्रोडक्ट और हरी सब्जियां शामिल करने से शरीर को भरपूर मात्रा में विटामिन A मिल जाता है. इसके कारण शरीर में मांसपेशियां, हड्डियां,  दांत, बाल, नाखून प्रभावित होते हैं.  विटामिन ए की कमी से नेत्र संबंधी बीमारियां होती हैं.

विटामिन B1

इसके कारण शरीर में मेटाबॉलिज्म मजबूत होता है.  ये शरीर में पाचन की प्रक्रिया  में मदद करता  है. बीज, नट, पोर्क, फलियां आदि चीजों में यह भरपूर मात्रा में होता है.

विटामिन B2

यह त्वचा को स्वस्थ रखता है, आंखों की रोशनी को बनाए रखता है और मैटाबॉलिज्म एनर्जी के लिए भी आवश्यक है. खाने में डेयरी उत्पाद, मशरूम और अनाज शामिल कर लेने से इसकी कमी नहीं होती.

Living with Thalassemia: Nutrition and Diet | थैलेसीमिया रोगियों को क्या खाना चाहिए

विटामिन B3

इसके कारण कोलेस्ट्रॉल प्रभावित होता है. दूध, अंडे और समुद्री भोजन में यह पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है.

विटामिन B5

यह ब्लड शुगर को प्रभावित करता है. यह लगभग सभी खाने की चीजों में पाया जाता है.

विटामिन B6

यह प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, रेड ब्लड सेल्स (लाल रक्त कोशिकाओं) को प्रभावित करता है. यह मांस, मछली,  मुर्गी,  अनाज,  केला,  आलू और हरी पत्तेदार सब्जियों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है.

विटामिन B7

इसे बायोटिन भी कहा जाता है, शरीर में डाइजेशन को प्रभावित करता है. सोयाबीन, अंडे की जर्दी, साबुत अनाज आदि में भरपूर मात्रा में पाया जाता है.

विटामिन B9

यह डीएनए आरएनए और रेड ब्लड सेल्स (लाल रक्त कोशिकाओं) को प्रभावित करता है.  फलियां, शतावरी, पत्तेदार हरी सब्जियां, संतरे का रस आदि चीजों में यह भरपूर मात्रा में मिलता है.

विटामिन B12

यह तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है. सभी पशु उत्पादों में यह भरपूर मात्रा में उपलब्ध होता है.

4l9lk5p8

खट्टे फल, नींबू, आंवला, संतरे, मिर्च, खरबूज जैसी चीजों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है. Photo Credit: iStock

विटामिन C

यह शरीर में इम्यूनिटी को प्रभावित करता है. खट्टे फल, नींबू, आंवला, संतरे, मिर्च, खरबूज जैसी चीजों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है.   

विटामिन D

यह शरीर में कैल्शियम के अवशोषण के लिए ये बहुत आवश्यक है. ये शरीर में हड्डियां और दांतों को प्रभावित करता है. सूरज की धूप इसे पाने का सबसे आसान जरिया है. इसके अलावा दूध मक्खन, वसायुक्त मछली में भी ये पाया जाता है. 

विटामिन E

यह एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य करता है. ये मांसपेशियों और रेड ब्लड सेल्स (लाल रक्त कोशिकाओं)  को प्रभावित करता है. अंडे, वनस्पति तेल, अनाज आदि में पाया जाता है.

विटामिन K


यह शरीर में रक्त के प्रवाह को प्रभावित करता है. ये रक्त में खून के थक्के नहीं बनने देता. हरी पत्तेदार सब्जियों, पालक, ब्रोकली आदि में पाया जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के निजी विचार हैं. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी यथास्थिति के आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दी गई जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाती है और एनडीटीवी इसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं लेता है.