Skincare Routine For Oily Skin: कैसा होना चाहिए ऑयली स्‍किन केयर रूटीन, जानें तैलीय त्वचा की देखभाल कैसे करें...

Skincare Routine for Oily Skin: ऑयली स्किन की केयर (Skin Care) करना है किसी चुनौती से कम नहीं है. हर कोई दिनभर फ्रेश फेस पाना चाहता है, लेकिन स्किन में मौजूद ऑयल उस फ्रेशनेस (Fresh and Glowing Skin) को दूर कर सकता है. यही नहीं ऑयली स्किन वालो को त्वचा (Skincare Routine) से जुडी कई तरह की परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है.

Skincare Routine For Oily Skin: कैसा होना चाहिए ऑयली स्‍किन केयर रूटीन, जानें तैलीय त्वचा की देखभाल कैसे करें...

Skin Care Routine: ऑयली स्किन के लिए फॉलो ये स्किनकेयर रूटीन.

Skincare Routine for Oily Skin: ऑयली स्किन की केयर (Skin Care) करना है किसी चुनौती से कम नहीं है. हर कोई दिनभर फ्रेश फेस पाना चाहता है, लेकिन स्किन में मौजूद ऑयल उस फ्रेशनेस (Fresh and Glowing Skin) को दूर कर सकता है. यही नहीं ऑयली स्किन वालो को त्वचा (Skincare Routine) से जुडी कई तरह की परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है. ये  आपके पोर्स को बंद कर सकता है. इसके अलावा पिंपल और ब्लैकहेड्स की समस्या (Blackhead) भी ऑयली स्किन (Oily Skin Problesm)में ज्यादा देखने को मिलती है. पर क्या आप जानते हैं कि इतनी सारी कमियों के बीच भी ऑयली स्किन (Oily Skin Benefits)के ढेर सारी फायदे भी हैं. अगर आपकी स्किन ऑयली है तो त्वचा को नेचुरल ऑयल मिलता है जो ज्यादातर लोगों के पास नहीं होता. ऐसे में स्किन की चिकनाई को कंट्रोल करने के लिए बस आपको एक सिंपल ऑयली स्किन केयर रूटीन (Skincare Routine For Oily Skin) फॉलो करना होगा.

ऑयली स्किन के लिए स्किनकेयर रूटीन |Skincare Routine For Oily Skin

Step 1: दिन में दो बार फेस वॉश करें

ज्यादातर लोग दिन में कई बार अपना चेहरा धोते हैं. ऐसे में ऑयली स्किन वालों को सिर्फ दिन में दो बार की फेस वॉश करना चाहिए. चेहरे को 2 बार से ज्यादा धोने से स्किन ओवर ड्राई हो जाती है और सिबेशियस ग्लैंड्स ज्यादा सीबम प्रोड्यूस करेगी जिससे आपकी स्किन और भी ज्यादा ऑयली हो जाएगी. तो अपनी ऑयली स्किनकेयर रूटीन में चेहरे पर जमी गंदगी और एक्सेस ऑयल को क्लीन करने के लिए फोमिंग फेस वॉश या जेल बेस क्लींजर का दिन में दो बार इस्तेमाल करें. फेस वॉश चुनते वक्त इस बात का खास ख्याल रखें कि वह ऑयल फ्री फेस वाश हो. इसके अलावा अगर आप घर का होममेड केमिकल फ्री क्लींजर इस्तेमाल करते हैं तो वो ज्यादा फायदेमंद होगा.

Ajwain Water Benefits: मोटापा से लेकर ब्लड सर्कुलेशन तक, जानें अजवाइन पानी पीने के बेमिसाल फायदे

Step 2: टोनर का इस्तेमाल करें

टोनर को लेकर गोल्डन रूल ये है कि क्लींजिंग के बाद और मॉइस्चराइज़ करने से पहले टोनर का इस्तेमाल करें.स्किन चाहे किसी भी टाइप की हो अनहाइड्रेटेड स्किन हमेशा अनहेल्दी और डल नजर आती है. ऐसे में टोनर आपकी स्किन को ग्लोइंग बनाने में मदद करता है. ऑयली स्किन को हाइड्रेटेड रखने और एजिंग प्रोसेस को स्लो करने में एल्कोहल फ्री टोनर इस्तेमाल करें. आप अपने घर पर भी नेचुरल स्किन टोनर बना सकते हैं. इसके लिए पानी में एप्पल साइडर विनेगर को मिला लें. ये आपकी स्क्रीन पर नेचुरल टोनर की तरह काम करेगा.

Step 3: स्किन एक्सफोलिएट करें

अपनी स्किन को कम ऑयली बनाने के लिए सबसे अच्छी ट्रिक है हफ्ते में एक बार माइल्ड ऑयली स्क्रबर से स्किन को एक्सफोलिएट करना. स्किन को एक्सफोलिएट करना आपके ऑयली स्किन केयर रूटीन का एक अहम हिस्सा है. इससे एक्सेस ऑयल कंट्रोल किया जा सकता है. इसके अलावा डेड स्किन को रिमूव करने और पोर्स को क्लियर करने में मदद मिलती है. यही नहीं अपने चेहरे को अच्छे से स्क्रब किया जाए तो नाक और चिन के आसपास मौजूद ब्लैक और व्हाइटहेड्स को भी आसानी से रिमूव किया जा सकता है.

Apricots For Immunity: इम्यूनिटी से लेकर पाचन तक, एप्रीकॉट खाने के अद्भुत फायदे

Step 4: वीक में एक बार फेस मास्क अप्लाई करें

 हफ्ते में एक बार फेस मास्क अप्लाई करना ऑयली स्किन वालो को काफी इफेक्टिव रिजल्ट देता है. दरअसल ऑइली स्किन में गंदगी आसानी से चिपक जाती है. ऐसे में हफ्ते में एक बार फेस मास्क लगाने से  स्किन की डलनेस कम होती है और फेस पर ग्लो आता है.

Step 5: मॉइश्चराइजर लगाएं

सुनने में ये थोड़ा अजीब जरूर लगेगा लेकिन सच यही है. अगर आप सोचते हैं कि आपकी स्किन ऑयली है तो मॉइस्चराइज़र लगाने की कोई जरूरत नहीं है, तो आप गलत सोचते हैं. ऑयली स्किन में भी मॉइस्चराइज़ उतना ही जरूरी है. बस आपको वॉटर बेस्ड मॉइश्चराइजर लगाना होगा. 

Pneumonia: Symptoms, Causes | What To Eat In Pneumonia: ये चीजें नहीं होने देंगी निमोनिया!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.