Side Effects Of Coconut Oil: नारियल तेल के इन 4 हैरान करने वाले दुष्प्रभावों को जानकर आप भी चौंक जाएंगे

Coconut Oil Side Effects: नारियल का तेल सेचुरेटेड फैट के सबसे समृद्ध स्रोतों में से एक है, जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है और त्वचा के लिए इसके लाभों के कारण बहुत से लोग इसे चुनते हैं.

Side Effects Of Coconut Oil: नारियल तेल के इन 4 हैरान करने वाले दुष्प्रभावों को जानकर आप भी चौंक जाएंगे

Coconut Oil Side Effects: वर्जिन कोकोनट ऑयल, जो कि तेल का सबसे शुद्ध रूप है

खास बातें

  • वर्जिन कोकोनट ऑयल, तेल का सबसे शुद्ध रूप है.
  • नारियल का तेल विटामिन और वसा का एक प्राकृतिक स्रोत है.
  • यहां नारियल तेल के दुष्प्रभावों के बारे में बताया गया है.

Is Coconut Oil Bad For Health?: हालांकि, अगर आप इस प्रोडक्ट्स का उपयोग कब और कैसे करते हैं, इस बारे में सावधान नहीं हैं, तो नारियल के तेल का जोखिम आपको हो सकता हैं. वर्जिन कोकोनट ऑयल, जो कि तेल का सबसे शुद्ध रूप है, के कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं, लेकिन जब इसे हम कमर्शियल ऑयल में प्रोसेस्ड करते हैं, तो यह दुष्प्रभाव विकसित करता है. हालांकि नारियल का तेल विटामिन और वसा का एक प्राकृतिक स्रोत है, जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन किसी भी चीज की अधिकता खतरनाक हो सकती है. नारियल तेल का उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका सही मात्रा में उपयोग करना है. यहां आपको नारियल तेल के उन दुष्प्रभावों के बारे में बताया गया है जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे.

नारियल तेल के साइडइफेक्ट्स | Coconut Oil Side Effects 

1. कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ा सकता है

नारियल में एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) और अच्छा एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का हाई लेवल होता है, यह अभी भी उन लोगों को परेशान कर सकता है जिनके रक्त प्रवाह में पहले से ही उच्च मात्रा में कोलेस्ट्रॉल है. नारियल के तेल में संतृप्त वसा की मात्रा अन्य वसा या तेल की तुलना में अधिक होती है. यह पाया गया है कि संतृप्त वसा के खराब कोलेस्ट्रॉल में वृद्धि होती है.

2. एलर्जी का कारण हो सकता है

नारियल तेल का सेवन करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि कहीं आपको इससे एलर्जी तो नहीं है. बदलाव देखने के लिए आप अपनी त्वचा पर थोड़ी सी मात्रा लगाकर जांच सकते हैं. अगर कोई इसके प्रति संवेदनशील है तो नारियल का तेल एलर्जी का कारण बनता है. कुछ एलर्जी प्रतिक्रियाओं में मतली, चकत्ते, एक्जिमा, पित्ती, उल्टी और एनाफिलेक्सिस शामिल हैं.

3. सिरदर्द

नारियल तेल का उपयोग कर डिटॉक्सीफिकेशन करने वाले व्यक्तियों को अक्सर सिरदर्द का अनुभव होता है. यह तब होता है जब नारियल के तेल में फैटी एसिड खमीर कोशिकाओं (जो संक्रमण का कारण बनता है) को तोड़ देता है, जिससे रक्तप्रवाह में फंगल विषाक्त पदार्थों की एक लहर निकल जाती हैय इसलिए यह सिरदर्द का कारण बनता है.

4. एक्ने ब्रेकआउट

ज्यादा मात्रा में ऑयली स्किन वाले व्यक्तियों में ऐसा होने की संभावना अधिक होती है. नारियल में मौजूद लॉरिक एसिड आमतौर पर ऑयली स्किन के लिए मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है. नहीं तो दिक्कत हो सकती है.

Sex During Periods: माहवारी में यौन संबंध ठीक या गलत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.