Hypothyroidism Diet: इन चीजों को खाने से बिगड़ जाता है हाइपोथायरायडिज्म, जानें क्या खाने से मिलेगा इस बीमारी से छुटकारा

What To Eat In Hypothyroidism: पोषण विशेषज्ञ पूजा मल्होत्रा ​​ने उन फूड्स को शेयर किया जिनसे हाइपोथायरायडिज्म की समस्या में आपको बचना चाहिए या डाइट में शामिल करना चाहिए.

Hypothyroidism Diet: इन चीजों को खाने से बिगड़ जाता है हाइपोथायरायडिज्म, जानें क्या खाने से मिलेगा इस बीमारी से छुटकारा

Hypothyroidism: आयोडीन से भरपूर फूड्स में ज्यादातर सी फूड और आयोडीन वाला नमक शामिल हैं

Hypothyroidism: अगर आप मानव शरीर की फंक्शनिंग के बारे में जानते हैं, तो आप थायरॉयड ग्रंथि के बारे में जानते होंगे. यह शरीर की वृद्धि और विकास में बड़ी भूमिका निभाता है. हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism) एक हेल्थ कंडिशन है जिसमें आपकी थायरॉयड ग्रंथि बहुत जरूरी हार्मोन का उत्पादन कम करती है. हाइपोथायरायडिज्म मानव शरीर में कई समस्याएं पैदा कर सकता है जिसमें हाई कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol), समय से पहले जन्म और गर्भावस्था में हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) शामिल हैं. इसके अलावा, हाइपोथायरायडिज्म में थायराइड हार्मोन का उत्पादन करने के लिए आपके शरीर को आयोडीन की जरूरत होती है. शरीर इस पोषक तत्व को नहीं बनाता है, इसलिए आपको इसे अपने डाइट से प्राप्त करने की जरूरत है. पोषण विशेषज्ञ पूजा मल्होत्रा ​​ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें बताया गया है कि आप (अनजाने में) अपने हाइपोथायरायडिज्म को किस तरह से खराब कर रहे हैं.

Skin की इन समस्याओं का कारण बनती है Vitamin D की कमी, डॉक्टर ने बताया कैसे होगी दूर

पूजा बताती हैं, "हमारी थायरॉयड ग्रंथि को इष्टतम कामकाज के लिए टायरोसिन, आयोडीन, सेलेनियम, विट डी, आयरन, जिंक, बी-कॉम्प्लेक्स जैसे पोषक तत्वों की मेजबानी की आवश्यकता होती है।" यदि आपके शरीर को नमक सहित विभिन्न खाद्य पदार्थों के माध्यम से आयोडीन नहीं मिलता है, तो यह आपके हाइपोथायरायडिज्म को खराब कर सकता है.

पोषण विशेषज्ञ के अनुसार, आयोडीन से भरपूर फूड्स में ज्यादातर सी फूड और आयोडीन वाले नमक शामिल हैं. वे आपकी डेली आयोडीन की जरूरतों को पूरा करने का सबसे आसान तरीका है, लेकिन समस्या तब पैदा होती है जब आप सेंधा नमक, और पिंक सॉल्ट जैसे गैर-आयोडीन खुराक वाले नमक का ही सेवन करते हैं. यह आपकी आयोडीन की जरूरत को पूरा नहीं करता है और आपके हाइपोथायरायड को खराब करता है. इसलिए आयोडीन से भरपूर नमक पर स्विच करना बेहतर है.

आपके शरीर में है हीमोग्लोबिन की कमी इन लक्षणों से पहचानें, जानें कारण और क्या खाना चाहिए

एक नजर पोस्ट पर डालें:

पूजा मल्होत्रा ​​ग्लूकोज स्पाइक्स के बारे में भी बोलती हैं और बताती हैं कि यह कैसे पेट की चर्बी को बढ़ा सकता है. तो, आप इससे कैसे बच सकते हैं? वह कहती हैं कि आपकी डाइट में कुछ बदलाव आपको ग्लूकोज स्पाइक्स से बचने में मदद करेंगे. पूजा का सुझाव है कि अपने दिन की शुरुआत बादाम, अखरोट, अलसी, कद्दू के बीज और चिया सीड्स जैसे नट्स और बीजों से करें. आपको मीठे विकल्पों के बजाय हाई प्रोटीन, नमकीन नाश्ता जैसे अंडा, अंकुरित अनाज, दाल चीला खाना चाहिए. अगर आप पोहा, उपमा या किसी भी संबंधित प्रकार के स्नैक्स का सेवन करते हैं, तो वह कहती हैं कि आपको इसे कार्ब्स के साथ संतुलित करने की जरूरत है. अपने भोजन के साथ नियमित रूप से कम से कम एक कप फाइबर से भरपूर सब्जियां (कच्ची या पकी हुई) और एक कप लीन प्रोटीन शामिल करें.

कैसे पहचाने ब्रेन ट्यूमर के शुरुआती लक्षण, ये 15 बॉडी साइन बताते हैं कि ट्यूमर बन रहा है

इसलिए, बुद्धिमान से भोजन चुनना जरूरी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.