सुबह सबसे पहले करें ये 6 काम, अपने आप एकदम से बढ़ने लगेगी आपकी इम्यूनिटी, बीमारियों पर लगेगी लगाम

Immunity Boosting Habits: अगर आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत रखना चाहते हैं तो यहां सुबह की 6 आदतों के बारे में जानिए जो हार्मोनल असंतुलन को कंट्रोल करने और इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद कर सकती हैं.

सुबह सबसे पहले करें ये 6 काम, अपने आप एकदम से बढ़ने लगेगी आपकी इम्यूनिटी, बीमारियों पर लगेगी लगाम

Immunity Power: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आज से ही अपनी आदतें बदल दें.

Natural Ways To Boost Immunity: हार्मोनल इनबैलेंस एक ऐसी समस्या है जो खासतौर से महिलाओं को प्रभावित करती है, जिससे थायरॉयड डिसऑर्डर, इर्रेगुलर पीरियड्स, वजन बढ़ना, स्किन में खुजली, चिंता, अवसाद और एनर्जी लेवल में कमी जैसी समस्याएं होती हैं. हार्मोन एक प्रकार के रसायन होते हैं जो ग्रंथियों से निकलते हैं और ब्लड फ्लो का हिस्सा बन जाते हैं, जिससे शरीर में कई कार्यों को सुविधाजनक बनाया जाता है. जब इन हार्मोन्स में गड़बड़ी होती है, तो ये कई स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकती है. हार्मोनल असंतुलन कई कारणों से पैदा हो सकता है. हालांकि हमारी डेली मॉर्निंग हैबिट्स इस असंतुलन को ठीक करने के साथ इम्यून सिस्टम को भी मजबूत कर सकती हैं. यहां सुबह की 6 आदतों के बारे में जानिए जो हर किसी को अपनानी चाहिए.

हमेशा हेल्दी रहने के लिए सुबह अपना लें ये आदतें | Adopt these habits in the morning to always stay healthy

1. सुबह सूरज की रोशनी में बैठें

दिन के शुरुआती घंटों में सूरज की रोशनी में बैठने से शरीर और दिमाग को कई फायदे होते हैं. सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से न केवल कई हार्मोनों को रेगुलेट करने में मदद मिलती है, बल्कि विटामिन डी के सिंथेसिस में भी मदद मिलती है, जो बोन हेल्थ के लिए जरूरी है. इसके अलावा, सुबह-सुबह सूर्य का प्रकाश शरीर की सर्कैडियन रिदम को बनाए रखने में बड़ी भूमिका निभाता है, जिससे हेल्दी स्लीप साइकिल को बढ़ावा मिलता है. हार्मोन मेलाटोनिन को बढ़ावा देने के लिए जरूरी है, जो नींद के चक्र को बढ़ावा देता है.

2. स्ट्रेचिंग और व्यायाम

मॉर्निंग रूटीन में स्ट्रेचिंग और व्यायाम को शामिल करने से हार्मोनल संतुलन और फिजिकल हेल्थ में बढ़ावा मिल सकता है. स्क्वैट्स, पुल-अप्स, पुश-अप्स और क्रंचेस जैसे हल्की एक्सरसाइज को हार्मोनल एक्टिविटी को बढ़ावा देने में मदद मिलती है बल्कि मसल्स की ताकत और लचीलेपन में भी सुधार होता है. हार्मोनल इनबैलेंस को बढ़ाने के साथ-साथ, रेगुलर एक्सरसाइज हार्ट हेल्थ को बढ़ावा देता है, मेटाबॉलिज्म में सुधार करता है और हेल्दी वेट को बनाए रखने में मदद करता है.

ये भी पढ़ें: सर्दियों में हरी इलायची खाना माना जाता है अमृत के समान, रोज खाने मिलते हैं ये 9 गजब के फायदे, पढ़िए आसान भाषा में

3. दिन की शुरुआत चाय या कॉफी से करने से बचें

सुबह की शुरुआत एक कप चाय या कॉफी के साथ करना एक आम बात है. हालांकि, हार्मोनल इनबैलेंस पर कैफीन के सेवन के संभावित प्रभावों के प्रति सचेत रहना जरूरी है. कैफीन के बहुत ज्यादा सेवन से कोर्टिसोल लेवल में बढ़ोत्तरी हो सकती है, जो स्ट्रेस लेवल को बढ़ाने और हार्मोनल बैलेंस को रिस्ट्रिक्ट करने में योगदान कर सकती है.

4. प्रोटीन से भरपूर ब्रेकफास्ट करें

एक बैलेंस और पौष्टिक ब्रेकफास्ट आने वाले दिन के लिए एनर्जी देता है. एनर्जी लेवल को स्थिर बनाए रखने और हार्मोनल बैलेंस को बढ़ावा देने के लिए मॉर्निंग रूटीन में प्रोटीन से भरपूर ब्रेकफास्ट को शामिल करना जरूरी है. अंडे, दही, नट्स और बीज जैसे प्रोटीन से भरपूर फूड्स न केवल जरूरी पोषक तत्व प्रदान करते हैं बल्कि इंसुलिन और कोर्टिसोल लेवल के रेगुलेशन में भी योगदान देते हैं.

ये भी पढ़ें: कब्ज से हैं परेशान, रोज सोने से पहले दही में मिलाकर खा लें ये चीज, सुबह शौच के रस्ते निकल जाएगी पूरी पेट की गंदगी

Latest and Breaking News on NDTV

5. ऑयल पुलिंग

ऑयल पुलिंग एक पुराना आयुर्वेदिक अभ्यास है जिसमें ओरल हाइजीन में सुधार के लिए ऑयल पुलिंग करना शामिल है. माना जाता है कि ऑयल पुलिंग की तकनीक मुंह से हानिकारक बैक्टीरिया और टॉक्सिन्स को खत्म करने में मदद करती है, जिससे ओरल इंफेक्शन और सूजन का खतरा कम हो जाता है. ये हेल्दी मसूड़ों को बढ़ावा देने, सांसों की दुर्गंध को रोकने और ओरल हाइजीन बनाए रखने में भी मददगार है.

ये भी पढ़ें: हल्दी में मिलाकर लगा लें ये चीज, 7 दिन में कुदरती सफेद दांतों पर जमी पीली परत हो जाएगी साफ, दांत दिखेंगे चटक सफेद

6. हरी घास पर चलें

सुबह-सुबह ताजी हरी घास पर नंगे पैर चलना शरीर और दिमाग दोनों के लिए एक तरोताजा करने वाला और थेरेप्यूटिक अनुभव हो सकता है. ये  हार्मोनल संतुलन को बढ़ावा देने और तनाव में कमी सहित कई स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा हुआ है. घास जैसी प्राकृतिक सतहों पर चलने से पैरों में नर्वस सिस्टम और  बेहतर ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है.



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)